भोपाल में मंदिर में लाउडस्पीकर बजाने पर नोटिस,दो दिन से बंद भजन-कीर्तन

भोपाल में मंदिर में लाउडस्पीकर बजाने पर नोटिस,दो दिन से बंद भजन-कीर्तन

Share this News

भोपाल के अवधपुरी इलाके में एक मंदिर में लाउडस्पीकर बजाने पर तेज आवाज में भजन, आरती और सुंदरकांड किए जाने का मुद्दा गरमा गया है। 

भोपाल के अवधपुरी इलाके में एक मंदिर में लाउडस्पीकर पर तेज आवाज में भजन, आरती और सुंदरकांड नोटिस,दो दिन से बंद भजन-कीर्तन,एमपी नगर SDM राजेश गुप्ता ने मंदिर प्रबंधक को नोटिस देकर लाउड स्पीकर हटाने के लिए कहा है। इस पर मंदिर प्रबंधक ने पिछले दो दिन से भजन-कीर्तन और सुंदरकांड बंद कर दिया है।

मंदिर प्रबंधक का आरोप है कि एसडीएम ने मुझे और बेटे को जेल भेजने की धमकी दी। इस पर एसडीएम ने कहा कि इसे धर्म से जोड़कर न देखें। निर्धारित डेसिबल से ज्यादा आवाज में लाउड स्पीकर चल रहा था। रहवासियों से इसकी शिकायत मिली थी। इसके बाद ही नोटिस दिया गया।

एमपी स्टाफ नर्स भर्ती के लिए करें अप्लाई, 4800 से ज्यादा वैकेंसी

एसडीएम ने कहा- कार्रवाई को लेकर गलत भ्रांतियां फैला रहे
एसडीएम राजेश गुप्ता ने बताया कि मंदिर के आसपास के रहवासियों और पार्षद ने शिकायत की थी कि तेज आवाज में लाउड स्पीकर बजाया जा रहा है। मेरी कोर्ट में बुजुर्ग भी आए। जिन्होंने दिक्कतें होने की बात कही। इस पर जांच कराई गई। पूर्व में रहे दो एसडीएम ने भी जांच करवाई थी। प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने रिपोर्ट दी थी। जांच में पाया कि मापक और मानक से ऊपर जाकर लाउड स्पीकर बजाया जा रहा है। नोटिस को लेकर गलत भ्रांति फैलाई जा रही है।

मंदिर-मस्जिद, गुरुद्वारे और चर्च को लेकर कोई बात नहीं है। यह बात जनता की परेशानी को लेकर है। बच्चे पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। इसे धर्म से जोड़कर न देखें। कोई भी धर्म स्थल हो या अन्य जगह, यदि लाउड स्पीकर तेज आवाज में बजाया जा रहा है तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

भोपाल कलेक्टर का आदेश जारी..ट्यूबवेल खुला छोड़ा तो यह होगी कार्रवाई

धार्मिक भावनाओं को भड़काने वालों पर सख्त कार्रवाई हो
मंदिर प्रबंधक पक्ष खामरा ने बताया कि वे मंदिर के संस्थापक हैं। एसडीएम ने नोटिस दिया था। 28 मार्च को उपस्थित होना था। मेरी तबीयत ठीक नहीं थी, इसलिए बेटे लक्ष्य को भेजा था। जब बेटे ने नोटिस की वजह पूछी, तो एसडीएम ने कहा कि आपके मंदिर के अंदर भजन-आरती और सुंदरकांड होता है, उसे बंद करवा दें। इसकी शिकायत मिली है। बेटे ने कहा कि शिकायत की जांच तो हो। मंदिर में आरती-भजन और पूजन नहीं होगा तो क्या होगा?

खामरा ने आरोप लगाया कि मुझे और बेटे को एसडीएम ने जेल में भेजने की बात कहीं। मंदिर के आसपास कोई नहीं रहता। सरकार धार्मिक भावनाओं को भड़काने वालों पर कार्रवाई करें। यदि कार्रवाई नहीं होती और भजन-पूजन बंद किया जाता है, तो धरना देंगे। जरूरत पड़ी तो भूख हड़ताल करेंगे। मंदिर 35 साल पुराना है। वहां 132 फीट ऊंचा शिवलिंग बनाया जा रहा है, जो दुनिया का सबसे बड़ा शिवलिंग होगा। यह भोपाल की शान होगा। क्या यहां पूजा-अर्चना, भजन और सुंदरकांड न हो? यह सबसे बड़ा सवाल है।

भोपाल एयरपोर्ट पर किसान को कारतूस के साथ पकड़ा, एफआइआर दर्ज

हिंदूवादी संगठनों ने जताया विरोध

इधर, मंदिर के लाउड स्पीकर बंद कराए जाने पर हिंदूवादी संगठनों ने विरोध जताया है। संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने इस फरमान को गलत बताया। अमरावतखुर्द अवधपुरी में खाम्बरा मंदिर है। यहां नियमित रूप से भजन-कीर्तन, आरती और सुंदरकांड का पाठ होता है। मंदिर प्रबंधक पक्ष खामरा को एमपी नगर वृत्त के एसडीएम गुप्ता ने 20 मार्च को नोटिस दिया था। खामरा को 28 मार्च को ऑफिस में तलब होने के लिए कहा था। इस पर मंदिर प्रबंधक का बेटा लक्ष्य खामरा एसडीएम के सामने पेश हुआ था।

Download our App Now 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्यों इतनी तेजी से फैल रहा आई फ्लू,काला चश्मा पहनने से मिलेगा लाभ कैसै बना बजरंग दल,जाने क्या है इसका इतिहास जानिए पहलवानों के आरोप और विवादों में घिरे ब्रजभूषण शरणसिंह कौन है?. Most Dangerous Dog Breeds: ये हैं दुनिया के पांच सबसे खतरनाक कुत्ते जाति प्रमाण पत्र कैसे बनाये, जाति प्रमाण पत्र कितने दिन में बनता है