शादी में नहीं बुलाना दूल्हे को पड़ा भारी पड़ोसी ने जमकर पीटा
शादी में नहीं बुलाना दूल्हे को पड़ा भारी पड़ोसी ने जमकर पीटा

भिंड: शादी-विवाद में अक्सर हम सभी अपने पड़ोसियों और रिश्तेदारों को न्योता देते हैं ताकि वह लोग कार्यक्रम में शिरकत कर सके. लेकिन आजकल कोरोना प्रोटोकॉल की वजह से समारोह में सीमित संख्या में ही लोगों के जुटने की इजाजत है. फिर भी क्या कभी आपने ऐसी घटना के बारे में सुना है कि जिसमें शादी (Wedding) में न बुलाए जाने पर पड़ोसी ने दूल्हे को ही पीट डाला हो. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh

Advertisement
) के भिंड से ऐसा ही एक अजब-गजब मामला सामने आया है.

बैंक खाते से फ्रॉड हुए रुपए वापस करएगी भोपाल पुलिस

शादी के बाद दूल्हे की पिटाई

भिंड (Bhind) जिले में एक नवविवाहित (Newly-Married) व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत दी है कि शादी में नहीं बुलाने को लेकर गांव के ही एक पड़ोसी ने उसकी पिटाई की है. पुलिस ने एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि घटना रविवार रात को देहात थाना क्षेत्र के चंदूपुरा गांव की है. शिकायत के आधार पर पुलिस ने सोमवार को आरोपी नरेंद्र कुशवाह के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है.

लासों के साथ भी सेक्स करते हैं तालिबानी,इस महिला पुलिसकर्मी ने बताई खौफनाक सच्चाई

देहात पुलिस थाने के हेड कांस्टेबल राधेश्याम शर्मा ने बताया कि 22 वर्षीय पीड़ित ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि उसने हाल ही में हुई अपनी शादी में नरेंद्र कुशवाह को न्योता नहीं दिया था, जिससे नाराज होकर उसने शिकायतकर्ता की पिटाई कर दी.

न बुलाने के एवज में मांगे रुपये

अधिकारी ने बताया कि पीड़ित ने नरेंद्र को बताया कि कोविड लॉकडाउन के कारण उसकी शादी में सिर्फ परिवार के सदस्य शामिल हुए थे, इससे वह और नाराज हो गया और पीड़ित को बुरी तरह पीटने लगा. उन्होंने बताया कि शादी में नहीं बुलाने पर आरोपी ने पीड़ित से शराब के लिए 500 रुपये की मांग भी की. इस पर पीड़ित ने कुशवाह को 100 रुपये दे भी दिए लेकिन, वह और पैसों की मांग करते हुए उसकी पिटाई करता रहा.

बैंक अकाउंट में से कट रहे हैं 177 रुपये? जानिए- ग्राहकों के अकाउंट से क्यों काटे जा रहे हैं पैसे?

पुलिस के मुताबिक पीड़ित युवक की आंखों और शरीर के अन्य हिस्सों पर गंभीर चोटें आई हैं. अब पुलिस फरार आरोपी के खिलाफ IPC की विभिन्न धाराओं में FIR दर्ज कर उसकी तलाश में जुट गई है.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply