नेहरा के पास एक ही जोड़ी जूता था, हर पारी के बाद पड़ता था सिलवाना

    Share this News

    टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा और पूर्व क्रिकेटर एवं मौजूदा कमेंटेटर आकाश चोपड़ा से यूट्यूब वीडियो पर बातचीत की। दोनों ने इस दौरान कई पुरानी यादों को ताजा किया। नेहरा ने इस दौरान बताया कि जैसे आज के समय में क्रिकेटरों का डेब्यू होता है, वो पहले काफी अलग था।

    Capture

    उन्होंने कहा कि आज के डेब्यू करने वाले खिलाड़ियों को लोग कप्तान, बाकी खिलाड़ी पहले से जानते हैं, जबकि हमारे समय में ऐसा नहीं था। इस दौरान नेहरा ने वो किस्सा भी सुनाया जब डेब्यू टेस्ट में उनके पास महज एक जोड़ी जूता था और हर पारी के बाद उन्हें वो सिलवाना पड़ता था।

    नेहरा ने बताया है कि उनके पास एक ही जोड़ी जूता था जिसे उन्होंने रणजी ट्रॉफी मैचों में पहना और डेब्यू टेस्ट में भी। नेहरा ने 1999 में कोलंबो में श्रीलंका के खिलाफ डेब्यू टेस्ट मैच खेला था। नेहरा ने कहा, ‘मेरे पास एक जोड़ी जूते थे जो मैंने रणजी ट्रॉफी में पहने थे और उन्हें ही मैं 1999 में अपने पहले टेस्ट मैच के लिए ले गया था। मुझे याद है कि मैंने हर पारी के बाद जूतों को सिलवाया था।’ ये दोनों खिलाड़ी दिल्ली के ही हैं और इस बातचीत के दौरान दोनों ने दिल्ली के रेस कोर्स ग्राउंड पर उनकी क्लब टीम के लिए खेले गए मैच को याद किया।

    शराब नहीं बिकने से हो रहा था 700 करोड़ रुपए का नुकसान

    आकाश ने कहा, ‘आपको पता है कि हमें हवा के साथ और हवा के खिलाफ गेंदबाजी करना पड़ रहा था? कोच ने मुझसे कहा था कि मैंने आपको उस छोर से गेंदबाजी क्यों नहीं कराई फिर मैंने कहा कि आप चाहते थे कि आप उस छोर से गेंदबाजी करें।’ नेहरा ने भारत के लिए 17 टेस्ट मैच खेले हैं। इसके अलावा उन्होंने 120 वनडे इंटरनेशनल और 27 टी-20 इंटरनेशनल मैच भी भारत के लिए खेले हैं।