मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने दिया यूपी सरकार को नोटिस,सुप्रीम कोर्ट पर याचिका

मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने दिया यूपी सरकार को नोटिस,सुप्रीम कोर्ट पर याचिका

Share this News

मऊ सदर से सुभासपा के विधायक अब्बास अंसारी पहले ही फरार चल रहे हैं.अब्बास अंसारी खेल कोटे से लिए गए शस्त्र लाइसेंस पर आर्म्स एक्ट के तहत कई मामलों में फरार है,सुप्रीम कोर्ट ने आर्म्स एक्ट मामले में अब्बास अंसारी की गिरफ्तारी पर अगले आदेश तक रोक लगा रखा है

यूपी के बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के बेटे और मऊ सदर से सुभासपा के विधायक अब्बास अंसारी की ओर से दायर जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया है, जिसमें जवाब मांगा गया है. मामले की सुनवाई के दौरान अब्बास अंसारी की ओर से पेश वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने अब्बास अंसारी पर लगाए गए आरोपों को निराधार बताया

लोकसभा चुनाव में मोदी जीतेंगे इतनी सीट,गुरु रामभद्राचार्य ने की भविष्यवाणी

क्या है मामला?

मुख्तार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास अंसारी शस्त्र लाइसेंस के दुरुपयोग से जुड़े एक मामले में वांछित हैं. अब्बास अंसारी की तलाश में लखनऊ पुलिस ने यूपी में अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी करने के साथ ही पंजाब और राजस्थान में भी धरपकड़ की कोशिश की. कोर्ट ने 14 जुलाई को अब्बास अंसारी के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था. अब्बास अंसारी पर लखनऊ पुलिस को बगैर बताए शस्त्र लाइसेंस नई दिल्ली ट्रांसफर कराने का आरोप है. इसी को लेकर कोर्ट ने उनके खिलाफ वारंट जारी किया था. उनपर एक लाइसेंस पर धोखाधड़ी कर कई शस्त्र लेने का भी आरोप है. हालांकी, मामले की सुनवाई के दौरान अब्बास अंसारी की ओर से पेश वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने अब्बास अंसारी पर लगाए गए आरोपों को निराधार बताया.

यूपी के बाहुबली मुख्तार अंसारी के बेटे और सुभासपा के विधायक अब्बास अंसारी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली थी. सुप्रीम कोर्ट ने आर्म्स एक्ट मामले में अब्बास अंसारी की गिरफ्तारी पर अगले आदेश तक रोक लगा रखी है. मऊ सदर से सुभासपा के विधायक अब्बास अंसारी पहले ही फरार चल रहे हैं. 25 अगस्त को अदालत ने अब्बास को धारा 82 के तहत फरार घोषित कर दिया था. इसी बीच उत्तर प्रदेश सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने एक नोटिस जारी किया है.

कौन है अब्बास अंसारी?

अब्बास अंसारी ने मऊ सदर सीट से सुभासपा के टिकट पर विधानसभा 2022 में चुनाव लड़ा था जिसमें उन्होंने जीत हासिल की थी. उत्तर प्रदेश में अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई के चलते मुख्तार अंसारी और उनके परिवार पर भी योगी आदित्यनाथ सरकार का शिंकजा कसा हुआ है. पिछले कई महीनों से अब्बास अंसारी फरार चल रहे हैं. 25 अगस्त को एमपी-एमएलए कोर्ट ने अब्बास अंसारी को भगोड़ा घोषित कर दिया था क्योंकि वह कोर्ट में सरेंडर नहीं कर रहे थे. उन पर आर्म्स एक्ट और प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) सहित अन्य मामले दर्ज हैं.

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें

Advertisement
Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..