मुख्तार अंसारी की जेल में हार्ट अटैक से मौत,विधायक बेटा बेसुध

मुख्तार अंसारी की जेल में हार्ट अटैक से मौत,विधायक बेटा बेसुध
मुख्तार अंसारी की जेल में हार्ट अटैक से मौत,विधायक बेटा बेसुध
Share this News

जेल में बंद पूर्व विधायक माफिया मुख्तार अंसारी की हार्ट अटैक से हुई मौत,दुसरे जेल में बंद बेटा हुआ बेसुध

जेल में बंद पूर्व विधायक माफिया मुख्तार अंसारी (mukhtar ansari) की गुरुवार देर रात  हार्ट अटैक से मौत हो गई। जैसे ही यह खबर कासगंज जेल में कैद उसके विधायक बेटे अब्बास अंसारी को मिली वह फूट-फूटकर रोने लगा और बेसुध सा हो गया जिसे पास ही खड़े बंदी रक्षकों ने उसे संभाला। इसके बाद रात भर वह बेचैन होकर अपनी बैरक में टहलता रहा और बार-बार जेल अधिकारियों और कर्मचारियों से अपने वकील से बात कराने की और बाहर आने कि गुहार लगाता रहा।

जबलपुर में 8 साल की बच्ची से रेप गुसाईं भीड़ ने लगाई शराब के ठेके में आग

सुबह होते ही वो जेल अफसरों से अखबार मांगने लगा। अपने पिता के जनाजे में शामिल होने के लिए जेल प्रशासन से विनती करने लगा। वहां मौजूद जेल कर्मचारियों ने उसे शांत कराया। अब्बास अंसारी ने अपने वकीलों के जरिए पिता के जनाजे में शामिल होने के लिए कोर्ट में अर्जी लगाई है। हालांकि उसे जाने की इजाजत मिलेगी या नहीं इस पर अभी कोई फैसला नहीं आ पाया है। मुख्तार अंसारी (mukhtar ansari) को गाजीपुर में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा।

मुख्तार अंसारी की जेल में हार्ट अटैक से मौत,विधायक बेटा बेसुध
मुख्तार अंसारी की जेल में हार्ट अटैक से मौत,विधायक बेटा बेसुध

हाई सिक्योरिटी बैरक में कैद है अब्बास अंसारी

आपको बता दें कि अब्बास को पिछले साल 14 फरवरी 2023 को चित्रकूट की जेल से यहां की जेल में शिफ्ट किया गया था। तभी से वह यहां की जेल में हाई सिक्योरिटी बैरक में कैद है। बॉडी वियर कैमरा, सीसीटीवी कैमरा और ड्रोन कैमरे से निगरानी की जा रही है। जेल में उसकी कड़ी सुरक्षा है।

कासगंज जेल अधीक्षक विजय विक्रम सिंह ने बताया कि अब्बास अंसारी को उसके पिता मुख्तार अंसारी (mukhtar ansari) की मौत की खबर दी गई है। अब्बास अंसारी को उसके पिता के जनाजे में शामिल होने के लिए भेजा जाएगा या नहीं इसको लेकर फिलहाल हमें ऐसा कोई आदेश अभी तक नहीं मिला है।

मनी लॉड्रिंग मामले में अब्बास की हुई थी गिरफ्तारी

सपा विधायक अब्बास अंसारी प्रयागराज मनी लॉड्रिंग केस में 18 नवंबर 2022 से चित्रकूट जेल में बंद था। अब्बास अंसारी को ईडी प्रयागराज इकाई ने 4 नवंबर को समन जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया था। इस दौरान पूछताछ में सहयोग न करने पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। इसके बाद 14 तक  रिमांड पर लेकर पूछताछ की थी। 18 दिसंबर को उसे पहले नैनी और बाद में चित्रकूट जेल भेज दिया गया था।

जेल में चोरी-छुपे मिलते पकड़े गए थे अब्बास और पत्नी निखत

भोपाल में आवारा कुत्तों का आतंक बच्चों ने दौड़कर बचाई जान,स्कूल के प्रिंसिपल पर भी हमला

10 फरवरी 2023 को चित्रकूट जेल में अब्बास से मिलने के लिए चोरी-छुपे उसकी बीवी निखत अंसारी पहुंची थी। इस बात का इनपुट पहले से ही अधिकारियों को मिल चुका था। इसके बाद जेल में डीएम अभिषेक आनंद और एसपी वृंदा शुक्ला ने छापा मारकर जेल के वीआईपी कमरे में मुलाकात करते हुए दोनों को पकड़ा था। उनके पास से विदेशी करेंसी और मोबाइल बरामद किया था। इस मामले ने तूल पकड़ा। जांच के लिए एसआईटी बनाई गई।

जेल प्रशासन समेत कई लोगों ने की थी मदद

जांच में सामने आया कि जेल मेन्यूअल के खिलाफ निखत को अब्बास से मिलाने में जेल प्रशासन से लेकर कई लोगों ने मदद की थी। इसके बाद सभी की तलाश शुरू हुई। मामले में मुख्तार अंसारी (mukhtar ansari) के विधायक बेटे अब्बास अंसारी समेत 5 आरोपियों पर गैंगस्टर की कार्रवाई की गई। आरोपियों की गिरफ्तारी हुई। इनमें निखत के ड्राइवर नियाज, सहयोगी शहबाज आलम के अलावा चित्रकूट निवासी सपा नेता फराज खान और कैंटीन के सप्लायर नवनीत सचान आरोपी हैं।

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें