कोरोना महामारी के बीच मेडिकल छात्रों के रिजल्ट में देरी,अंतिम वर्ष के छात्र जल्दी परिणाम के साथ चाहते है प्रैक्टिस का मौका…

Advertisement

कोरोना महामारी के दौरान आपातकाल में जहां एक और डॉक्टरों की अतिआवश्यकत्ता है वहीं दूसरी ओर जो मेडिकल के अंतिम वर्ष के छात्र है वो इस महामारी के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं पर फिलहाल इनका ही रिजल्ट जारी नहीं हो सका है और लंबे समय से अटका है

साध्वी प्रज्ञा ने दिया विवादित बयान, कहा- संतो और वीरों की भूमि पर ताड़का की सरकार

जिसके बाद इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और मेडिकल स्टूडेंट्स नेटवर्क मध्यप्रदेश ने मध्यप्रदेश सरकार में चिकित्सा मंत्री विस्वास सारंग से अपील की है जो अंतिम वर्ष के विद्यार्थी है या जो विद्यार्थी पूरक आये हैं उनका रिजल्ट कोरोना महामारी के कारण लंबे समय से जारी नहीं किया जा सका है जबकि यह डॉक्टर्स अपनी इस महामारी में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकते है

मध्यप्रदेश: कोरोना कर्फ़्यू में कुत्ते को भी हो गई जेल, जानिए क्या है पूरा मामला.?

IMA MSN MP के डॉ सचिन गुप्ता ओर डॉ अंतिम सोलंकी ने अंतिम वर्ष के पूरक छात्रों की परीक्षा जल्द से जल्द करवाने अथवा उन छात्रों को प्रोविज़नल इंटर्नशिप (पूरक विषय के अलावा अन्य विषयों मे इंटरंशिप) प्रारंभ करने के संबंध मे चिकित्सा मंत्री से मुलाकात कर उचित कदम उठाने का आग्रह किया

वेंटिलेटर युक्त एंबुलेंस का किराया 25 रुपये प्रति किलोमीटर तय

मेडिकल एसोसिएशन के सदस्य अरुणेश्वर सुनहरा ने बताया कि
आई .एम.ए. मध्यप्रदेश की मांग है ।

1 Mbbs अंतिम वर्ष के छात्र जिनका किसी कारण से थ्योरी एग्जाम नहीं निकला है ,आपदा की इस घड़ी में उन्हें इंटर्नशिप करने का अवसर दिया जाए ।

2 पूरक परीक्षा जल्द से जल्द कराए जाएं ,जिन से मेडिकल छात्रों को नुकशान न हो ,एवम आपदा की इस घड़ी में उन छात्रों के ज्ञान का लाभ लिया जा सके ।

आसाराम भी कोरोना पॉजिटिव, तबियत बिगड़ने के बाद ICU में भर्ती

3 जब तक इनकी परीक्षा नहीं हो जाती प्रोविजनल इंटर्नशिप का अवसर दिया जाए ।

4 जिस विषय मे पूरक परीक्षा देनी है ,उसको छोड़कर दूसरे विषय मे पोस्टिंग का अवसर प्रदान किया जाए ।

5 उत्तीर्ण होने पर इस प्रोविजनल इंटर्नशिप को सम्पूर्ण इंटर्नशिप में जोड़ा जाए ,जिससे इनके समय की बर्बादी को रोक जाए ।

6 Re-Evalution पद्धती को फिर से लागू किया जयर जिसके अनुसार छात्र अपनी परीक्षा का फिर से मूल्यांकन करवा सके ।

गरीब कोरोना मरीजों को प्रतिदिन 5 हजार रुपये देगी सरकार, अस्पताल को भी मिलेगी प्रोत्साहन राशि

ईसके साथ ही उन्होंने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री,राज्यपाल और स्वास्थ्य मंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply