मामला इंदौर के राऊ थाना क्षेत्र का है जहां एक एमबीए की छात्रा ने मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को नौकरी के लिए पत्र लिखने के 4 दिन बाद ही फांसी से लटक कर अपनी जान दे दी मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है मौके पर कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला है

Advertisement

 

राम मंदिर निर्माण के नाम पर धोखाधड़ी, फर्जी कूपन से चंदा वसूल रहा था युवक, VHP की शिकायत के बाद गिरफ्तार

जानकारी के मुताबिक राम रहीम कॉलोनी में रहने वाली 25 वर्षीय नैंसी पढ़ाई में बहुत होशियार थी लॉकडाउन के कारण उसकी पढ़ाई नहीं हो पाई और परीक्षा भी पास आ रही थी ऐसे में उसे पेपर को लेकर टेंशन थी नैंसी की सुनने और बोलने की क्षमता कम होने से वह करियर को लेकर भी चिंता में रहती थी जिसके चलते उसने 31 जनवरी को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र भी लिखा था वह पढ़ाई के साथ नौकरी करना चाहती थी

IPL 2021: गौतम गंभीर का सवाल- 8 साल से बिना ट्रॉफी के कैसे कप्तानी कर रहे कोहली?

परितनों ने पुलिस को बताया की जब भी हम शादी को लेकर बात करते तो वह चिंतित हो जाया करती थी। रात करीब 8 बजे सबके साथ उसने खाना खाया था। इसके बाद अपने कमरे में पढ़ने चली गई। कई बार वह वहीं पर पढ़ते-पढ़ते सो जाया करती थी। कई बार सोने के लिए नीचे आ जाया करती थी। रात 11 बजे मैं राेज की तरह घर आया और बेटी को देखने गया। दरवाजा खटखटाया तो उसने दरवाजा नहीं खोला। मुझे लगा वह सो गई होगी। इसके बाद मैं भी जाकर सो गया। सुबह करीब 7 बजे जब ऊपर गए तो दरवाजा बंद था, जबकि वह छह से साढ़े छह बजे तक उठ जाया करती थी। खिड़की से झांका तो बेटी फंदे पर लटकी थी। उसने दुपट्टे से फांसी लगाई थी। कमरे में कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

IPL 2021: 18 फरवरी को होगी खिलाड़ियों की नीलामी, कई क्रिकेटरों की खुलेगी किस्मत

पुलिस के अनुसार शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है अभी आत्‍‍‍‍‍‍‍महत्‍या के कारणाें का कोई पता नहीं चल पाया है कोई सुसाइड भी बरामत नहीं हुआ है पुलिस ममला दर्ज कर जांच कर रही है

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply