Ladli Behna Yojana: 10 नहीं 1 मार्च को ही आ जाएगी लाडली बहना योजना की पहली किस्त

Ladli Behna Yojana: 10 नहीं 1 मार्च को ही आ जाएगी लाडली बहना योजना की पहली किस्त

Share this News

लाडली बहना योजना की मार्च माह की पहली किस्त महिलाओं के खाते में 10 तारीख के बजाय पहली तारीख को ही आ जाएगी। 

Ladli Behna Yojana: मध्य प्रदेश में साल 2023 से शुरू लाडली बहना योजना सुचारू रूप से चल रही है। एमपी मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा है कि बहन-बेटियों के कल्याण के लिए जारी कोई योजना बंद नहीं होगी। लाडली बहना योजना की मार्च माह की पहली किस्त महिलाओं के खाते में 10 तारीख के बजाय पहली तारीख को ही आ जाएगी। सीएम मोहन यादव ने इस योजना की जानकारी तब दी जब वह बालाघाट प्रवास के दौरान 761 करोड़ रुपये की लागत के विभिन्न विकास कार्यो का शिलान्यास और लोकार्पण कर रहे थे।

मार्च माह की पहली तारीख को आयेगी लाडली बहना योजना की पहली किस्त

1 मार्च को आयेगी पहली किस्त

बता दें मुख्यमंत्री मोहन यादव ने यह फैसला त्योहारों को देखते हुए लिया है। मार्च माह होली का त्योहार आ रहा है, जिसके चलते एक मार्च को ही बहनों के खाते में लाडली बहना योजना की राशि डाली जा रही है। पहली किस्त की राशि मार्च की पहली तारीख को मिलने से बहनों को त्योहारों पर कोई परेशानी नहीं होगी। सीएम मोहन यादव ने बताया कि योजना के तहत 1.29 करोड़ बहनों के खाते में 1250 करोड़ रुपये जारी किए जाएंगे।

Satyapal Malik: बीमा घोटाले में गिरफ्तार सत्यपाल मालिक के घर पर CBI छापा

सीएम मोहन यादव ने कहा, “मैं अपने आपको मुख्यमंत्री नहीं, जनता का मुख्य सेवक मानता हूँ। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी देश के प्रधानसेवक हैं और मैं मुख्यसेवक के रूप में प्रदेश के विकास और जनकल्याण को समर्पित हूँ।”

अगली किस्त 10 तारीख को ही आयेगी

हालांकि लाडली बहना योजना की बाकी किस्तें अपने निर्धारित समय माह की 10 तारीख को डाली जाएंगी। यह बदलाव केवल त्योहार के चलते इस साल की पहली किस्त के लिए ही किया गया है। यानी अब साल की दूसरी किस्त माह की 10 तारीख को ही di जाएगी। सीएम मोहन यादव ने कहा कि भाजपा सरकार की ओर से नियमित हर माह की 10 तारीख को बहनों के खाते में सहायता राशि डाली जाएगी और वह निरंतर जारी रहेगी।

पिछले साल शुरू हुई थी लाडली योजना

मध्य प्रदेश में लाड़ली बहना योजना की शुरुआत मार्च 2023 में हुई थी। जून के महीने से इस योजना की पात्र महिलाओं के खाते में 1000-1000 हजार रुपए आने लगे थे। तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अक्टूबर से यह राशि बढ़ाकर 1250 रुपए कर दी थी। मध्य प्रदेश की निवाली महिला की आयु 21-60 वर्ष होनी चाहिए।

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें

CBSE 10th क्लास के सैंपल पेपर जारी,ऐसे करें डाउनलोड Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा।