खंडवा के कोविड अस्पताल में एक जिंदा युवक को मृत बता दिया। उसकी जगह एक बुजुर्ग का शव परिवार वालों को सौंप दिया जब उन्होंने देखा तो दंग रह गए। अंतिम दर्शन के लिए चेहरा देखकर पता चला कि यह तो कोई और है। इसके बाद तलाश हुई तो एक वार्ड में युवक भर्ती मिला। अब जांच की बात कही गई है।

Advertisement

जानकारी के अनुसार मंगलवार को सिंगोट क्षेत्र के गांव रामपुरा निवासी 22 वर्षीय गोलू पंवार की तबीयत खराब होने पर उसे कोविड अस्पताल के सारी वार्ड में भर्ती कराया गया। भर्ती के सैंपल लिए तो दूसरे दिन बुधवार की शाम को रिपोर्ट निगेटिव आई।

भोपाल में एक बार फिर पुलिस ने दिखाई सख्ती,157 स्थानों पर बैरिकेडिंग कर 2000 पुलिसकर्मी तैनात

रिपोर्ट नेगेटिव आने से पहले अस्पताल प्रबंधन ने परिजन को सूचना दी कि गोलू की मौत हो चुकी है। मातम में डूबे परिवार के सदस्यों ने दाह संस्कार की तैयारी कर ली। जब वे शव लेने अस्पताल पहुंचे और आंखें फटी रह गईं। उन्हें गोलू बताकर जो शव दिया गया वह किसी बुजुर्ग का शव निकला। फिर भर्ती युवक की तलाश में परिजन सारी वार्ड गए, जहां युवक इलाज ले रहा था। यह देख परिजन ने कहा कि हमारा मरीज अच्छा है, ये पता चलने पर राहत मिली।

युवक ने सेल्फी तस्वीरों को वायरल करने की दी धमकी, सदमे में आई छात्रा ने खुद को लगा ली आग, मौत

अंतिम संस्कार की तैयारी कर चुके थे

परिवार वालों ने बताया जैसे ही सूचना मिली तो हम दंग थे। मामूली तकलीफ में मौत कैसे हुई। फिर अंतिम संस्कार की तैयारी में लग गए थे। जब यहां आए तो कहानी दूसरी ही निकली।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply