खेलों में बनाना चाहते हैं करियर? ‘टैलेंट सर्च 2021’ अभियान की यहां जानिए पूरी डिटेल्स, इस तारीख तक होंगे रजिस्ट्रेशन

    टैलेंट सर्च 2021
    टैलेंट सर्च 2021
    Share this News

    खिलाड़ियों को रजिस्ट्रेशन के बाद एसएमएस के द्वारा सूचना दी जाएगी कि वह किस तारीख में जिला मुख्यालय पर फिटनेस टेस्ट देने आएंगे

    खेलों में करियर बनाने का सपना देखने वाले युवाओं के लिए एक शानदार मौका आया है. दरअसल प्रदेश सरकार टैलेंट सर्च 2021 अभियान चला रही है, जिसके तहत राज्य के शहरों के साथ ही ग्रामीण और कस्बाई इलाकों से भविष्य की खेल प्रतिभाओं को तलाशा जाएगा. चुने गए युवाओं को ट्रेनिंग देकर खेलों की दुनिया में आगे बढ़ने का मौका दिया जाएगा.

    टैलेंट सर्च 2021 अभियान का संचालन खेल एवं युवा कल्याण, स्कूल शिक्षा और आदिम जाति कल्याण विभाग साथ मिलकर कर रहे हैं. इस अभियान के तहत करीब 2500 युवाओं का चयन किया जाएगा, जिन्हें विभिन्न खेल अकादमियों और राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षकों की देखरेख में ट्रेनिंग दी जाएगी.

    टोक्यो में ब्रॉन्ज मेडल जीत पीवी सिंधु ने रचा इतिहास,सुशील कुमार कि बराबरी की

    इस तारीख तक कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन
    टैलेंट सर्च प्रोग्राम के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 9 अगस्त से शुरू हुई थी जो 21 अगस्त तक चलेगी. ऐसे में इस अभियान में भाग लेने के इच्छुक युवा 21 अगस्त तक रजिस्ट्रेशन पूरा कर लें. रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन किया जा रहा है लेकिन विशेष परिस्थितियों में ऑफलाइन भी किया जा सकेगा. एथलेटिक्स, शूटिंग, वॉटर स्पोर्ट्स (कयाकिंग केनोइंग, रोइंग, सेलिंग, स्लालॉम), कराटे, फेंसिंग, बॉक्सिंग, कुश्ती, ताइक्वांडो जूडो, घुड़सवारी, पुरुष हॉकी, ट्रायथलान, महिला हॉकी, बैडमिंटन, तीरंदाजी, पुरुष क्रिकेट, योग और मलखंभ के प्रतिभावान खिलाड़ियों को इस अभियान में शामिल होने का मौका दिया जाएगा.

    इस गेंदबाज का सामना करने से डरते थे महेंद्र सिंह धोनी, खुद किया था खुलासा

    24 अगस्त से चयन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी, जो जिला, संभाग और फिर राज्य स्तर तक चलेगी. चयन प्रक्रिया के दौरान कोरोना गाइडलाइंस का पालन अनिवार्य होगा. माना जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर संबंधी कोई समस्या नहीं आयी, तो चयन की पूरी प्रक्रिया 15 सितंबर तक पूरी कर ली जाएगी. टैलेंट सर्च अभियान में अब तक 17 हजार पंजीयन हो चुके हैं. यह संख्या 50 हजार तक पहुंचने की उम्मीद है.

    ऐसे होगी चयन प्रक्रिया
    खिलाड़ियों को रजिस्ट्रेशन के बाद एसएमएस के द्वारा सूचना दी जाएगी कि वह किस तारीख में जिला मुख्यालय पर फिटनेस टेस्ट देने आएंगे. डीएसओ खिलाड़ियों को यह बताएंगे कि उन्हें जिला मुख्यालय के किस ग्राउंड पर फिजिकल टेस्ट देना है. डीएसओ को हर दिन 100 खिलाड़ियों का फिटनेस टेस्ट लेने का निर्देश दिया गया है. फिजिकल टेस्ट के रिजल्ट के आधार पर और खेल अकादमियों में खाली सीटों के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी. इसके बाद खिलाड़ियों को स्किल टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा. जो खिलाड़ी राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर खेल आयोजनों में भाग ले चुके हैं या मेडल जीत चुके हैं, वह सीधे स्किल टेस्ट में शामिल हो सकते हैं. ऐसे खिलाड़ियों को उम्र सीमा में भी छूट दी गई है.

    हॉकी का ऐसे होगा ट्रायल
    हॉकी का सलेक्शन ट्रायल 8 जोन- ग्वालियर, शिवपुरी, जबलपुर, इंदौर, मंदसौर, होशंगाबाद और भोपाल में किया जाएगा. जिन जिलों में हॉकी के फीडर सेंटर चल रहे हैं, उनके जिला और युवा कल्याण अधिकारी को इच्छुक खिलाड़ियों का रजिस्ट्रेशन 18 अगस्त से पहले कराना होगा. हॉकी अकादमी में जितनी सीटें हैं, उनसे 3 गुना ज्यादा खिलाड़ियों का चयन किया जाएगा. इसके बाद चयनित खिलाड़ियों का 7-10 दिन का कैंप लगाया जाएगा. इस कैंप के आधार पर अंतिम चयन होगा. महिला हॉकी खिलाड़ियों का कैंप ग्वालियर में और पुरुष हॉकी खिलाड़ियों का कैंप भोपाल में सितंबर के पहले सप्ताह में लगाया जाएगा.

    कुश्ती का कुछ ही जिलों में होगा सलेक्शन ट्रायल
    टैलेंट सर्च अभियान के तहत कुश्ती में प्रदेश के उन्हीं खिलाड़ियों को शामिल किया जाएगा, जिन्होंने कम से कम राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लिया हो. कुश्ती का यह टैलेंट सर्च अभियान मुख्यतः इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, सागर और भोपाल संभाग में किया जाएगा. दरअसल एमपी के इन्हीं संभागों में मुख्य तौर पर कुश्ती का खेल प्रचलन में है. जिन खिलाड़ियों के जिले में ट्रायल नहीं हो रहे हैं, वो अपने नजदीकी जिले में ट्रायल में भाग ले सकते हैं.