घोटाले में सेटिंग सेंटर के तीन कर्मचारी भी शामिल

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का 92 वर्ष की उम्र में निधन, पीएम ने जताया शोक

Advertisement

आईआईटी सहित देश की प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेज में होने वाली जेईई मेन्‍स परीक्षा में 99.8 % अंक लाने वाले असम के टॉपर नील नक्षत्र दास को बुधवार के दिन पुलिस ने घोटाले के आरोप में गिरफ्तार किया है जानकारी के मुताबिक आरोपी ने अपनी जगह पर किसी अन्य छात्र से परीक्षा दिलवाई थी इस घोटाले में नील नक्षत्र के साथ-साथ उनके पिता और सेटिंग सेन्‍टर के तीन कर्मचारी भी शामिल थे इसीलिए पुलिस ने सभी के खिलाफ केस फाइल किया है

लॉकडाउन के बाद बढ़ती ऑनलाइन ठगी से सावधान

पुलिस के मुताबिक छात्र 5 सितंबर 2020 को परीक्षा देने के लिए परीक्षा सेंटर गया था लेकिन उसने परीक्षा नहीं दी उसमें सिर्फ बायोमेट्रिक फॉर्मेलिटी को पूरा किया और परीक्षा कॉपी में अपना नाम रोल नंबर लिख कर वापस आ गया उसकी जगह किसी दूसरे ने परीक्षा दी इस घोटाले में सेंटर के निरीक्षक ने भी आरोपी की मदद की थी

घाटों पर आज भी जारी रहेगा विसर्जन,समितियों ने सोमवार को भी कराया कन्याभोज

यह मामला तब सामने आया जब आरोपी की कॉल रिकॉर्डिंग और व्हाट्सएप चैट सोशल मीडिया में वायरल हो गई थी जिसमें आरोपी परीक्षा में टॉप करने के लिए जो हथकंडे अपनाए गए थे उनका जिक्र कर रहा था इस मामले में दिसपुर के मथुरा नगर निवासी मित्रदेव शर्मा असम पुलिस स्टेशन में एफ आई आर दर्ज कराई थी

सेल्समैन को डीप फ्रीजर में डाल जिंदा जलाया जाने क्या थी वजह

पुलिस का यह कहना है कि यह सिर्फ एक कैंडिडेट का केस नहीं बल्कि बड़ा घोटाला हो सकता है पुलिस ने एग्जाम सेंटर को सील कर मैनेजमेंट को समन भेजा है और घटना की जानकारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को भी दे दी है

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply