कांवड़ यात्रियों को नहीं मिलेगी इस रास्ते पर एंट्री
कांवड़ यात्रियों को नहीं मिलेगी इस रास्ते पर एंट्री

देश में चल रहे संवेदनशील मुद्दों का ख्याल रखते हुए कांवड़ यात्रियों को लेकर दिल्ली पुलिस ने अलर्ट जारी किया है
Advertisement

सावन महीने की कांवड़ यात्रियों कि यात्रा 14 तारीख से शुरू होने वाली है। इसके मद्देनजर ट्रैफिक पुलिस ने प्लान तैयार कर लिया है। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर कांवड़ यात्रियों को एंट्री नहीं दी जाएगी। कांवड़िए मेरठ से मोदीनगर, मुरादनगर और गाजियाबाद के रास्ते दिल्ली जा सकेंगे। वहीं, देश में चल रहे संवेदनशील मुद्दों का ख्याल रखते हुए कांवड़ यात्रा को लेकर दिल्ली पुलिस ने अलर्ट जारी किया है।

अयोध्या: हनुमान मंदिर में युवक की गला काटकर हत्या,मचा हड़कंप

कोरोना वायरस के कारण 2020 और 2021 में सावन के महीने की कांवड़ यात्रा नहीं हुई थी। ऐसे में अब दो साल बाद 14 जुलाई से कांवड़ यात्रा शुरू हो रही है, जो 26 जुलाई तक चलेगी। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे बनने के बाद यह पहली कांवड़ यात्रा है। एसपी ट्रैफिक मेरठ जितेंद्र श्रीवास्तव का कहना है कि मेरठ की सीमा से दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर कांवड़िये या कांवड़ संबंधी वाहन को एंट्री नहीं दी जाएगी। जो भी यातायात के मानक हैं, उनका पूरी तरीके से पालन कराया जाएगा।

दिल्ली-देहरादून हाईवे NH-58 पर हरिद्वार से कांवड़ यात्रा शुरू होती है

बता दें कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर पैदल, साइकिल, दो पहिया वाहन, ऑटो, टेंपो और बैलगाड़ी पूरी तरीके से प्रतिबंधित हैं। इस एक्सप्रेस पर वाहनों की स्पीड 120 किमी प्रति घंटा निर्धारित है। दिल्ली-देहरादून हाईवे NH-58 पर हरिद्वार से कांवड़ यात्रा शुरू होती है, जहां से कांवड़ यात्री मुजफ्फरनगर, मेरठ के रास्ते दिल्ली, हरियाणा राजस्थान की सीमा में प्रवेश करते हैं।

डीजल डालकर आदिवासी महिला को जिंदा जलाया,दो आरोपी गिरफ्तार, तीसरे की तलाश जारी

छोटी कांवड़ वाले कावड़िए मेरठ के रास्ते गाजियाबाद, दिल्ली जा सकेंगे

कांवड़ यात्री मेरठ से बुलंदशहर के रास्ते, अलीगढ़, आगरा, मथुरा, राजस्थान और मध्य प्रदेश तक जाते हैं। दिल्ली की सीमा से गाजियाबाद और मेरठ के मोदीपुरम तक 78 किलोमीटर की सीमा में रैपिड रेल प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य चल रहा है। यहां सड़क का ज्यादातर भाग बाधित है। ऐसे में ट्रैफिक पुलिस ने प्लान तैयार किया है कि मेरठ के मोदीपुरम से बड़ी कांवड़ लेकर शिवभक्त मेरठ शहर से प्रवेश नहीं कर सकेंगे। उन्हें मेरठ में मोदीपुरम से बाईपास के रास्ते गाजियाबाद दिल्ली की तरफ जाना होगा। पैदल और छोटी कांवड़ वाले कावड़िए मेरठ शहर के रास्ते गाजियाबाद, दिल्ली जा सकेंगे।

‘कांवड़िए का रजिस्ट्रेशन पहली बार दिल्ली पुलिस की ओर से किया जाएगा’

वहीं, कांवड़ यात्रा को लेकर दिल्ली पुलिस ने भी अलर्ट जारी किया है। इसे लेकर दिल्ली पुलिस की पीआरओ (PRO) सुमन नलवा ने इंडिया टीवी से खास बातचीत में बताया कि कावड़ यात्रा को लेकर दिल्ली पुलिस ने काफी मीटिंग की है। दिल्ली सरकार से भी मीटिंग की है। ये बहुत ही अहम इवेंट है। इसमें हजारों लोग कांवड़ लेकर जाते हैं। इसी के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने एक नई पहल की है। इस बार कांवड़ियों का रजिस्ट्रेशन पहली बार दिल्ली पुलिस की तरफ से किया जाएगा। ये रजिस्ट्रेशन फ्री रहेगा। जो भी यात्री कावड़ पर जा रहे हैं, उनसे आग्रह करते है कि kavad.delhipolice.gov.In पर रजिस्ट्रेशन कराएं।

मध्यप्रदेश में कोरोना की चौथी लहर का खतरा तेज, मिले 126 नए पॉजिटिव

‘आंकड़ा उत्तराखंड पुलिस से शेयर करेगी दिल्ली पुलिस’

उन्होंने कहा कि इस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराने की वजह से दिल्ली पुलिस के पास एक आंकड़ा रहेगा कि कितने लोग दिल्ली से जा रहे हैं। इसका फायदा सुविधा देने में भी होगा। ये आंकड़ा उत्तराखंड पुलिस से शेयर करेंगे। अगर कोई आपदा आती है, कोई हादसा होता है, तो ये रजिस्ट्रेशन काफी उपयोगी होगा। दिल्ली पुलिस के पास अगर डिटेल होगी, तो उन्हें पहचान कर उन तक मदद पहुंचाना काफी आसान हो जाएगा।

संवेदनशील मामलों के मद्देनजर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम

दिल्ली पुलिस ने ये भी बताया की ये अनिवार्य नहीं है, ये आपकी इच्छा पर निर्भर है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, कुछ दिनों में देश में संवेदनशील मामले सामने आए हैं, इसलिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। ट्रैफिक के पूरे बंदोबस्त किए गए हैं, ताकि किसी को परेशानी ना हो। दिल्ली पुलिस का कहना है कि ये यात्रा सुचारु रूप से हो, इसके लिए हमारी तरफ से सभी इंतजाम किए जाएंगे।

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply