Jaipur: कमीशन दो तब होगा भुगतान…एसीबी के हत्थे चढ़े कृषि विपणन बोर्ड के दो इंजीनियर, अब देना होगा घर में मिली 10 लाख रुपये नगदी का हिसाब

Jaipur: कमीशन दो तब होगा भुगतान…एसीबी के हत्थे चढ़े कृषि विपणन बोर्ड के दो इंजीनियर, अब देना होगा घर में मिली 10 लाख रुपये नगदी का हिसाब

Share this News

[ad_1]

जयपुरः राजस्थान की राजधानी जयपुर में एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने मंगलवार को बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया। एसीबी ने निर्माण कार्य के पेमेंट के बदले रिश्वत के तौर पर साढे 5 प्रतिशत कमीशन मांगने वाले दो अफसरों को गिरफ्तार किया। राजस्थान कृषि विपणन बोर्ड के एक्सईएन सुरेन्द्र चौधरी और एईएन गुलाब सिंह को एसीबी ने 30 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया।

फरियादी ने शिकायत की थी कि निर्माण कार्य के लिए 24 लाख 50 हजार रुपये के बिल अटके हुए हैं। एईएन और एक्सईएन साढे 5 प्रतिशत कमीशन की मांग कर रहे थे। शिकायत की जांच कराने के बाद एसीपी राजपाल गोदारा के नेतृत्व में एसीबी टीम ने सुरेन्द्र सिंह और गुलाब सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

दोनों के घर पर मिले 5-5 लाख रुपये नकद
एसीबी के डीआईजी विष्णुकांत के मुताबिक डीजी बीएल सोनी के निर्देश पर कार्रवाई को अंजाम दिया गया। 24 लाख 50 हजार रुपये के बिल पास करने की एवज में कमीशन के रूप में 1 लाख 34 हजार रुपये मांगे जा रहे थे। ट्रैप की कार्रवाई के बाद आरोपी सुरेन्द्र सिंह और गुलाब सिंह के ठिकानों पर दबिश दी गई। एक्सईएन सुरेन्द्र चौधरी मूल रूप से अलवर का रहने वाला है और फिलहाल जयपुर के सबसे पॉश इलाके सी-स्कीम स्थित इंपीरियल फ्लैट्स में रहता है। सुरेन्द्र चौधरी के आवास पर 5 लाख रुपये नकद मिले। इसी तरह एईएन गुलाब सिंह जयपुर के मानसरोवर स्थित कावेरी पथ पर रहता है। गुलाब सिंह के आवास से 5 लाख 30 हजार रुपए की नकदी मिली। अब एसीबी के अफसर इस राशि के बारे में पूछताछ कर रहे हैं।

सीबी की अपील, रिश्वत मांगने वालों की शिकायत करें
एसीबी के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने आमजन से अपील की है कि किसी भी कार्य के लिए रिश्वत मांगने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ निडर होकर शिकायत करें। अगर शिकायतकर्ता चाहे तो उसका नाम गोपनीय रखा जाएगा। टोल फ्री 1064 और 9413502834 पर कोई भी परवादी निसंकोच शिकायत कर सकता है। उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता का जायज कार्य पूरा कराने में एसीबी पूरी मदद करेगी। राज्य सरकार के कर्मचारियों और अधिकारियों के साथ केन्द्रीय कर्मचारियों के खिलाफ रिश्वतखोरी के मामलों में कार्रवाई करने के लिए एसीबी के पास अधिकार है।
रिपोर्टः रामस्वरूप लामरोड़, जयपुर

[ad_2]

Source link

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..