29 अप्रैल का दिन सिनेमा जगत और उसके फैन्स के लिए बेहद मुश्किल और दुखभरा रहा. इस दिन हम सभी ने भारत के सबसे बेमिसाल एक्टर्स में से एक इरफान खान को अलविदा कह दिया. इरफान 54 साल के थे और कोलन इन्फेक्शन का इलाज करवाने के लिए मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती हुए थे.

साल 2018 में उन्होंने एक अलग तरह के कैंसर, जिसे न्यूरोइंडोक्राइन ट्यूमर के नाम से जाना जाता है, उससे पीड़ित होने की बात का खुलासा किया था. उनकी एक्टिंग और आंखों के कई दीवाने थे. इरफान ने कभी भी अपने मन की बात कहने में हिचकिचाहट महसूस नहीं की. वे हमेशा अपनी सोच लोगों के सामने रख दिया करते थे. ऐसा ही एक बार उनकी फिल्म मदारी के प्रमोशन के दौरान हुआ था.

बॉलीवुड एक्टर ऋषि कपूर की तबीयत खराब, मुंबई के अस्पताल में हुए भर्ती

मोदी से करना चाहते थे सवाल

2016 में फिल्म मदारी के प्रमोशन के दौरान इरफान खान ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करने की इच्छा जताई थी. हालांकि मोदी उस समय व्यस्त थे. एनडीटीवी के साथ एक इंटरव्यू के दौरान इरफान से पूछा गया था कि आखिर पीएम मोदी को हॉट सीट पर बैठाकर उनसे क्या पूछना चाहते हैं. इस पर इरफान ने कहा, ‘नहीं इसमें हॉट सीट जैसा कुछ नहीं है. मेरी फिल्म (मदारी) आम आदमी और सिस्टम के बारे में है. हमने हमेशा से मदारी और जमूरे का खेल देखा है. तो मैंने सोचा कि मैं इस मौके का फायदा उठाऊंगा और उनसे मुलाकात करूंगा और उनसे पूछुंगा.’

बीजेपी विधायक ने कैमरे के सामने मुस्लिम सब्जी वाले को धमकाया, कहा- ‘अगर इस इलाके में दोबारा दिखे तो…’

कई बार पूछे जाने पर इरफान ने बताया था कि उनके दिमाग में सिर्फ एक सवाल नहीं है. उन्होंने कहा कि वे सिर्फ एक सवाल नहीं पूछ सकते. उन्होंने कहा, ‘ये मेरे मूड पर है. लेकिन एक सवाल अगर मैं बोलूं जो मेरे मन में आता है वो है जवाबदेही. चलिए मान लेते हैं कि एक जनरल सवाल है कि आपकी जवाबदेही कहां है? ये हमें दिखाई क्यों नहीं देती? क्या किसी राजनीतिक पार्टी की जिम्मेदारी यही होती है कि वे पॉवर में आने के बाद लोगों के लिए क्या करेंगे ये बताएं और क्या उनकी जिम्मेदारी ये नहीं है कि वो लोगों को और जागरूक बनाएं?’

इरफान से पूछा गया था कि आखिर उन्हें क्या लगता है सोशल मीडिया कल्चर के इतना बढ़ने के बाद भी लोग चीजों पर ध्यान क्यों नहीं देते. इसपर उन्होंने जवाब दिया था, ‘लोगों को लीड करना आसान है. वो अपने डर और असुरक्षा के चलते वादों के जाल में फंस जाते हैं. वो ऐसे ग्रुप्स में बंट जाते हैं जो राजनीति, धर्मं या जात से चलते हैं. वे सबसे शक्तिशाली ग्रुप का हिस्सा बनना चाहते हैं.’

11 मई से शुरू होगी वनप्लस 8 सीरीज स्मार्टफोन की बिक्री, प्री-बुकिंग करने मिलेगा एक हजार रुपए का कैशबैक

बता दें कि इसी दौरान इरफान ने दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल से मुलाकात की थी.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply