मध्यप्रदेश में 50 फीसदी MLA के कट सकते हैं टिकट,सर्वे रिपोर्ट से घबराई BJP,मध्यप्रदेश में किसकी बनेगी सरकार?

मध्यप्रदेश में 50 फीसदी MLA के कट सकते हैं टिकट,सर्वे रिपोर्ट से घबराई BJP,मध्यप्रदेश में किसकी बनेगी सरकार?

Share this News

50 फीसदी MLA के कट सकते हैं टिकट राज्य के कई दिग्गज नेताओं के लिए अच्छा नहीं है यह फीडबैक

MLA के कट सकते हैं टिकट :मध्यप्रदेश में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा संगठन तक जो जमीनी फीडबैक आ रहा है वो परेशान करने वाला है। राज्य के कई दिग्गज नेताओं के लिए यह फीडबैक अच्छा नहीं है। यही कारण है कि तमाम दावेदारों की नींद उड़ी हुई है। साथ ही गुजरात और कर्नाटक के फार्मूले ने दावेदारों की चिंताएं भी बढ़ा दी हैं। भाजपा वर्ष 2018 के विधानसभा चुनावों के नतीजों के बाद से अलर्ट मोड में है। वह अगले चुनाव में ऐसी कोई चूक करने के लिए तैयार नहीं है जिसके चलते उसके सत्ता में बने रहने के रास्ते में कोई बाधा आए। लिहाजा पार्टी जमीनी स्तर से फीडबैक जुटाने में लगी है। अब तक जो जमीनी रिपोर्ट पार्टी के पास आई है वह उसे चिंता में डालने वाली तो है ही।

अतीक और उसके भाई अशरफ की प्रयागराज में गोली मारकर हत्या,देखें विडियो

पार्टी संगठन के पास जो जमीनी रिपोर्ट आ रही है वह बताती है कि वर्तमान हालात में पार्टी को चुनाव में बहुमत हासिल करना आसान नहीं है। सरकार और विधायकों के खिलाफ जनता में नाराजगी है। इसे खत्म तो नहीं किया जा सकता, हां कम जरुर किया जा सकता है। इसके लिए कड़े फैसले लेने की जरुरत है। जो भी रिपोर्ट पार्टी तक आई है, उसी के चलते संगठन और सत्ता के तेवर बदले हुए हैं।

सरकार की बड़ी चिंता हैं ये वर्ग
राष्टीय स्वयं सेवक संघ के अलावा उसके अनुषांगिक संगठनों के प्रतिनिधियों से भी संवाद का दौर जारी है। सरकार की बड़ी चिंता शिक्षा, खेती-किसानी और मजदूर वर्ग को लेकर है। इसी वजह से बीते रोज संघ के अनुशंगिक संगठन के प्रतिनिधियों व मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री आवास पर संगठन के पदाधिकारियों की बैठक हुई। सूत्रों का कहना है कि जमीनी रिपोर्ट के आधार पर पार्टी संगठन यह तय कर चुका है कि आगामी चुनाव में ज्यादा से ज्यादा नए चेहरों को जगह दी जाए, क्योंकि बड़ी संख्या में विधायक ऐसे हैं जिनके खिलाफ जमीन पर नाराजगी है और वे लगातार जनता के बीच भी सक्रिय नहीं रहे हैं।

पेड न्यूज मामले में नरोत्तम मिश्रा पर सुनवाई 19 अप्रैल तक टली,फैसले पर टिका राजनीतिक भविष्य

उम्र का फॉर्म्यूला भी करेगा काम
इसके लिए पार्टी उम्र के फार्मूले पर भी काम करने वाली है। उसी के चलते यह भी तय हो रहा है कि 65 वर्ष की आयु पार कर चुके नेताओं को अब चुनावी राजनीति से दूर रखा जाए। भाजपा ने वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में 50 से ज्यादा विधायकों के टिकट काटे थे जिनमें कई बड़े दिग्गज चेहरे भी शामिल थे। पार्टी इस बार गुजरात और कर्नाटक के फार्मूले पर भी आगे बढ़ने की रणनीति पर काम कर रही है। इसके चलते संभावना इस बात की जताई जा रही है कि भाजपा के 127 विधायकों में से आधे विधायकों तक के टिकट काटे जा सकते हैं।

Download our App Now

Advertisement

19 thoughts on “मध्यप्रदेश में 50 फीसदी MLA के कट सकते हैं टिकट,सर्वे रिपोर्ट से घबराई BJP,मध्यप्रदेश में किसकी बनेगी सरकार?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..