जबलपुर में फर्जी महिला SDM ने शादी का झांसा देकर की ठगी,9.5 लाख कैश,टीवी-फ्रिज लेकर भागी
जबलपुर में फर्जी महिला SDM ने शादी का झांसा देकर की ठगी,9.5 लाख कैश,टीवी-फ्रिज लेकर भागी
Share this News

फर्जी महिला SDM और उसके भाई को जबलपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

जबलपुर पुलिस ने शादी का झांसा देकर ठगने के आरोप में एक फर्जी महिला SDM और उसके भाई को गिरफ्तार किया है। दोनों सोमवार को इटारसी (नर्मदापुरम) से अरेस्ट किए गए। महिला ने मैट्रिमोनियल साइट पर जबलपुर के व्यक्ति से शादी के लिए हामी भरी। बातचीत होने लगी तो बताया कि उसने मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) की परीक्षा पास कर ली है। SDM पोस्ट मिली है। ट्रेनिंग जबलपुर में है।

महिला ने व्यक्ति से 9.5 लाख रुपए एडवांस ले लिए। 1 से 1.5 लाख रुपए का घरेलू सामान अपने लिए खरीदवाया। व्यक्ति ने खुद किराया देकर उसे जबलपुर में मकान दिलाया। महिला 6 महीने बाद वह सबकुछ समेटकर फरार हो गई थी। पुलिस को अब आरोपियों की मां की तलाश है।

सारा सामान समेटकर रातोंरात भागी फर्जी महिला SDM

विकास को लग रहा था कि श्वेता SDM की ट्रेनिंग कर रही है। उन्हें उसकी हरकतों पर जरा भी शक नहीं हुआ। जबलपुर आने के 6 महीने बाद श्वेता सारा सामान समेटकर रातोंरात मकान खाली कर भाग गई। मकान मालिक ने विकास को जानकारी दी। तब उन्हें पता चला कि उनके साथ फ्रॉड हुआ है।

कटनी में रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़े जाने के डर से नोट चबा गया पटवारी,देखें विडियो

दो-तीन महीने विकास अपने लेवल पर श्वेता की तलाश करते रहे। कई बार कॉल किया। नवंबर 2022 में उन्होंने केस कराने का निर्णय लिया और मदनमहल थाने में शिकायत की। केस के इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर सब इंस्पेक्टर दीपचंद राय ने बताया कि पुलिस को एक साल से आरोपियों की तलाश थी। जल्द इनकी मां को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मां और भाई से मिलाया, टीवी, फ्रिज की डिमांड की
मामला नवंबर 2022 में दर्ज हुआ था। मदन महल थाना इलाके के आमनपुर में रहने वाले विकास तिवारी (40) की shaadi.com के जरिए श्वेता तिवारी (37) से पहचान हुई थी। दोनों ने एक-दूसरे को पसंद किया। बातचीत होने लगी।

विकास ने पुलिस को शिकायत करते हुए बताया था कि श्वेता ने उनके सामने शादी का प्रस्ताव रखा था। इटारसी में रहने वाली श्वेता ने अपनी मां निशा और भाई सौरभ (35) से भी उन्हें मिलवाया था। इसके कुछ दिन बाद श्वेता ने बताया कि SDM के पद पर सिलेक्शन हो गया है। ट्रेनिंग जबलपुर में होना है। जबलपुर में उसे कोई नहीं जानता। रहने के लिए कोई जगह भी नहीं है।

मध्यप्रदेश के रीवा में क्रूरता की हदें पार,सरपंच पति ने युवक को अर्धनग्न कर पीटा

ऐसे में विकास ने जनवरी 2022 में माढ़ोताल थाना इलाके के रिमझा में उसे चार हजार रुपए प्रतिमाह पर मकान दिलवा दिया। किराया वह खुद देने लगे। श्वेता की डिमांड पर उन्होंने उसे टीवी, सोफा, वॉशिंग मशीन, बेड, फ्रिज, बर्तन और दूसरी चीजें भी लाकर दीं।

इटारसी में भी दर्ज हो चुका है फ्रॉड केस

श्वेता के खिलाफ 2011 में भी इटारसी थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था। यहां पर भी इसने एक व्यक्ति के साथ धोखाधड़ी कर उसे प्रेमजाल में फंसाया और फिर लाखों रुपए ऐंठे। अभी तक की पूछताछ में श्वेता ने पुलिस को बताया कि वह कटंगी के एक कॉलेज से BA की पढ़ाई कर रही है।

10 एकड़ जमीन बेचने का कहकर 9.5 लाख रुपए एडवांस लिए

पुलिस के मुताबिक, श्वेता ने विकास को कहा कि उसके परिवार के पास 10 एकड़ खेती की जमीन कटंगी में है। कीमत 1 करोड़ है। कोई ग्राहक हो तो बिकवा दीजिए। विकास ने सोचा कि रिश्ते की बात हो ही रही है, क्यों न वे खुद ही जमीन खरीद लें। उन्होंने सौदा 50 लाख में तय किया। अपनी जमीन बेचकर श्वेता को 9.5 लाख रुपए एडवांस दे दिए।

Download our App Now