असामाजिक तत्वों ने पुलिस पर पटाखे फेंके.

जबलपुर के गोहलपुर थाना इलाके में पुलिस और समुदाय विशेष के बीच हुई झड़प हुई थी. पुलिस ने इन लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास, बलवा सहित कई अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है.

Advertisement

मध्य प्रदेश के जबलपुर (Jabalpur) में ईद-मिलाद-उन-नबी (Eid-Milad-Un-Nabi) के दौरान विवाद खड़ा हो गया. दरअसल मंगलवार ईद के मौके पर पुलिस और समुदाय विशेष के बीच हुई झड़प हो गई. कुछ लोगों ने पुलिस पर बम पटाखे फेंके थे. इस मामले में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया है.

धार: ईद-ए-मिलादुन्नबी का जुलूस नहीं माने लोग तो किया लाठीचार्ज

दरअसल गोहलपुर (Gohalpur) थाना इलाके में इन पर बलवा और जान से मारने की कोशिश के अपराध दर्ज किए गए हैं. मामले में पुलिस जांच में कई खुलासे हुए हैं. गोहलपुर थाना क्षेत्र के सीएसपी अखिलेश गौर (Akhilesh Gaur) ने जानकारी दी कि शांतिपूर्ण तरीके से त्यौहार मनाया जा रहा था अचानक पुलिस पर बम पटाखे फेंके गए जिसकी वजह से स्थिति खराब हुई और एहतियातन बल प्रयोग करना पड़ा.  इन्हें खदड़ने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज और आसूं गैस के गोले दागने पड़े.

शांति व्यवस्था बिगाड़ने वालों के खिलाफ ही की गई कार्रवाई

सीएसपी अखिलेश ने बताया कि कार्रवाई उन्हीं लोगों पर हुई है जिन्होंने शांति व्यवस्था बिगाड़ने की कोशिश की थी. इसके साथ 70 से ज्यादा लोगों को चिन्हित किया है जो कि उपद्रव में शामिल थे. पुलिस ने इन लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास, बलवा सहित कई अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है. साजिश के सवाल पर सीएसपी अखिलेश गौर का कहना है कि यह नौजवान उम्र के कुछ लोग हैं.

डाकू ददुआ का हाथी हुआ सतना से बरामद,पूर्व विधायक बेटे ने गुजरात में किया था सौदा

असामाजिक तत्वों को कड़ा संदेश देने का वक्त आ गया: सीएसपी

सीएसपी अखिलेश ने बताया कि पिछले 2 साल से देखने में आ रहा है कि यह लोग किसी की बात सुनने से परहेज करते हैं. यह अनियंत्रित और बिना लीडरशिप के काम करने वाले असामाजिक तत्व है, जिनको अब कड़ा संदेश देने का वक्त आ गया है. सीएसपी ने आगे कहा कि प्रशासन और वरिष्ठ अधिकारियों ने स्पष्ट कर दिया है कि ऐसे तत्वों को जो कानून व्यवस्था के लिए सवाल खड़ा कर रहे हैं, उन्हें चिन्हित किया जाए और समाज से बाहर किया जाए.

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply