दूसरे दिन 1200 से अधिक देवी प्रतिमाओं का विसर्जन

रविवार को नवरात्र समापन के बाद शुरू हुआ देवी प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला सोमवार को भी जारी रहा। दूसरे दिन देर शाम तक छोटी-बड़ी 1200 से अधिक प्रतिमाएं तालाबों के विभिन्न घाटों पर विसर्जित की जा चुकी थी। शेष प्रतिमाओं का विसर्जन मंगलवार को किया जाएगा।

Advertisement

सेल्समैन को डीप फ्रीजर में डाल जिंदा जलाया जाने क्या थी वजह

इसकी वजह यह है कि कई पंडालों में सोमवार को शाम तक कन्याभोज चलते रहे। यह झांकी समितियां अब प्रतिमाओं का विसर्जन करेंगी।

नवरात्रि की धूम या अंधविश्वास,माँ ने अपने ही बेटे को चढ़ाया बलि

अब तक सर्वाधिक प्रतिमाएं भदभदा स्थित प्रेमपुरा, रानी कमलापति घाट, खटलापुरा व हताईखेड़ा में विसर्जित की गई है। बैरागढ़ में प्रतिमाओं का विसर्जन बेहटा गांव स्थित घाट पर किया गया।

कई समितियों ने वाहनों में झांकी सजाकर प्रतिमाओं काे विराजमान कराया और घाटों पर लेकर पहुंचे। यहां समिति पदाधिकारियों ने आरती की, जबकि प्रतिमाओं का विसर्जन निगम कर्मचारियों ने ही क्रेन आदि मशीनों के जरिए किया।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply