उत्तर प्रदेश के अपर सचिव (गृह) ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पुलिस विभाग को निर्देश दिया है कि फेस मास्क नहीं लगाने वालों के खिलाफ अभियान चलाकर उनसे मौके पर ही जुर्माना वसूलें। लोकभवन में गुरुवार को कोरोनावायरस के प्रकोप के संबंध में किए गए प्रेस कांफ्रेंस में अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि फेस मास्क और फेस कवर का प्रयोग करने के संबंध में सख्त निर्देश दिया गया है।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने फेस कवर नहीं करने व फेस मास्क नहीं लगाने वाले लोगों से मौके पर ही जुर्माना वसूलने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि हर जनपद में थर्मल स्कैनर और अल्ट्रा रेड थर्मामीटर लगाया जाए। पब्लिक डीलिंग वाली जगहों- जैसे कार्यालय, बाजार आदि में थर्मल स्कैनर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से पॉजिटिव तथा मृतकों की संख्या के अनुपात में स्वस्थ होने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। बीते सोमवार से कोरोना संक्रमण से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या का क्रम जारी है। गुरुवार को भी कोरोना संक्रमण से ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज होने वालों की संख्या संक्रमित होने वाले मरीजों से अधिक रही।

प्रमुख सचिव ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सर्विलांस में 73 हजार 131 टीम लगी रहीं। इन टीमों ने 3 करोड़ 1 लाख 14 हजार 730 लोगों की जांच भी की। आइसोलेशन वार्ड में 1823 और क्वारंटीन में 9834 लोगों को रखकर उपचार किया जा रहा है।

पालघर भीड़ हत्या मामले में 61 को न्यायिक हिरासत में, 51 को पुलिस हिरासत में भेजा गया..

अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी ने प्रवासी श्रमिकों व कामगारों से अपील कि है कि वे सब्र रखें। सभी को वापस लाने का काम जारी है। मुख्यमंत्री ने एक बार फिर प्रवासी कामगारों व श्रमिकों से पैदल यात्रा न करने की अपील की है।

अपर मुख्य सचिव (गृह) ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अबतक गुजरात से 174, महाराष्ट्र से 51, पंजाब से 59 ट्रेन, कर्नाटक से 12 ट्रेन, केरल से 5 ट्रेन सहित कुल 318 ट्रेनों से 3 लाख 84 हजार 260 श्रमिकों व कामगारों की वापसी हुई है।

अब इंडोनेशिया में काली करतूतों को अंजाम दे रहा चीन, जानिए वो आलोचना..

उन्होंने बताया कि गुरुवार की शाम तक 15 ट्रेन आ गई थीं। जबकि 66 अन्य ट्रेनें आने वाली हैं। यह अबतक का रिकार्ड है कि एक ही दिन में 81 ट्रेनें आ रही हैं। बड़ी बात यह है कि 174 नई ट्रेनों को अनुमति भी दे दी गई है। दिल्ली से भी प्रतिदिन 4 ट्रेन चलाने की सहमति मिल गई है। इस कारण दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद के श्रमिकों व कामगारों को बड़ी राहत मिली है। सहारनपुर से भी प्रतिदिन 3 ट्रेन चलेंगी।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply