सेंट्रल जेल में सिमी आतंकियों की भूख हड़ताल,यह रखीं मांग
सेंट्रल जेल में सिमी आतंकियों की भूख हड़ताल,यह रखीं मांग
Share this News

प्रतिबंधित संगठन सिमी के आतंकियों की भूख हड़ताल चार दिन से जारी,जेल प्रशासन ने पत्र के माध्यम से दी हालात की जानकारी

भोपाल सेंट्रल जेल में प्रतिबंधित संगठन सिमी के आतंकियों की चार दिन से भूख हड़ताल जारी हैं। हैं। सभी आतंकी हाई सिक्युरिटी सेल में बंद हैं। न्यूज पेपर, लायबेरी, सामूहिक नमाज और घड़ी देने की मांगे मनवाने उन्होंने यह हड़ताल की है। सभी मांगे अवैधानिक हैं, लिहाजा प्रशासन की ओर से उनकी निगरानी कराई जा रही है। फीडिंग के माध्यम से उन्हें तरल पदार्थ दिए जा रहे हैं। जेल प्रशासन ने जेल मुख्यालय सहित सीएमएचओ को पत्र के माध्यम से हालात की जानकारी दी है।

अब दो रुपए किलो में टमाटर बेचने को मजबूर हो रहे किसान

पहले फैजल और कामरान हड़ताल पर बैठा
हाई सिक्योरिटी के अंदर जेल में बंद होने के बाद अवैधानिक मांगों को लेकर आतंकियों ने हड़ताल 14 सितंबर से शुरू कर दी थी। 2 दिन बाद 16 सितंबर को जेल प्रबंधन को भूख हड़ताल की जानकारी मिली इसके बाद कैदियों के सेहत पर नजर रखी जा रही है। सूत्रों के मुताबिक कमरुद्दीन पुत्र चांद मोहम्मद नागौरी मोहल्ला उज्जैन को साल 2017 में आजीवन सजा सुनाई गई थी।

शिवली पुत्र करीम केरल निवासी को भी आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। दोनों सिमी संगठन से जुड़े हुए थे। खास बात है कि आतंकियों को मांगों के लिए भड़काने के पीछे अबू फैजल और कामरान है। इन दोनों ने पहले भूख हड़ताल शुरू की थी। आतंकवादी और देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के चलते भोपाल की उच्च सुरक्षा इकाई में चारों आतंकियों को रखा गया है।

मध्यप्रदेश में आचार संहिता से पहले पुलिस विभाग में हुए आईपीएस के ट्रांसफर

जेलर सरोज मिश्रा ने बताया कि सभी चारों आतंकियों की निगरानी कराई जा रही है। 14 सितंबर से चारों भूख हड़ताल पर हैं। उनका मेडिकल चैकअप कराया जा रहा है। डॉक्टर उनकी सेहत पर नजरें बनाए हुए हैं।

हमसे व्हाट्सएप पर जुड़े