Share this News

नई दिल्ली. कोरोना संकट के चलते सेनाओं के बजट में कटौती के भी आसार हैं। महामारी के जारी रहने तक तीनों सेनाओं में हथियारों की खरीदी नहीं होगी। डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स की तरफ से जारी की गई चिठ्ठी में हथियार खरीदी की प्रक्रिया टालने के आदेश दिए गए हैं। ये आदेश उस समय आया है, जब सेनाओं के आधुनिकीकरण के लिए हथियार खरीदने की प्रक्रिया जारी है।

https://www.youtube.com/channel/UCtR9ml1AXlXIG8WiuxhzTOQ

भारतीय वायु सेना फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमान और रूस से एस-400 वायु रक्षा प्रणाली के सौदे की अंतिम स्टेज में है। वहीं, थल सेना अमेरिका और रूस समेत कुछ और देशों से टैंक, आर्टिलरी गन और असॉल्ट राइफल खरीद रही है। नौसेना ने भी हाल ही में अमेरिका से 24 मल्टीरोल हेलिकॉप्टर खरीदने के सौदे पर दस्तखत किए हैं।
बीमारी से लड़ने में भारी खर्च कर रही सरकार
सूत्रों के मुताबिक, सरकार कोरोनावायरस से लड़ने के लिए बड़ी रकम खर्च कर रही है। देश में जारी लॉकडाउन के दौरान सैकड़ों लोगों को खाना खिलाने पर भी हर दिन करोड़ों रुपए की लागत आ रही है। सरकार आर्थिक संकट को टालने के लिए रक्षा समेत सभी मंत्रालयों से उनके बजट में कटौती करने को कह सकती है।