Share this News

होटल इंडस्ट्री पर कोरोना का साया, दो माह में देश के 11 बड़े शहरों में होटलों के प्रति रूम का रेवेन्यू घटकर 29 प्रतिशत पर आया

  • दिल्ली, मुंबई, पुणे, गोवा जैसे बड़े शहरों में जनवरी-मार्च के बीच आक्युपेंसी रेट में 5 से 17 फीसदी गिरावट आई 
  • कोविड-19 की वजह से 2020 की पहली तिमाही में हॉस्पिटैलिटी सेक्टर पर बुरा असर पड़ा है
  • पिछले साल जनवरी में होटल उद्योग काफी बेहदर प्रदर्शन कर रहा था लेकिन अब स्थिति पूरी तरह बदल गई

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस ने पूरे विश्व को अपने घेरे में ले लिया है, वहीं सभी उद्योग जगत प्रभावित हो रहा है। सबसे अधिक नुकसान होटल व्यवसाय को हो रहा है। प्रॉपर्टी कंसल्टेंट JLL इंडिया सर्वे के मुताबिक, महामारी के चलते देश के 11 बड़े शहरों में होटल उद्योग बुरी तरह प्रभावित हुआ है। जनवरी से मार्च के दौरान बड़े शहरों में प्रति रूम रेवेन्यू (RevPAR) में 29 फीसदी तक गिरावट आई है। इस दौरान आक्युपेंसी लेवल में भी गिरावट देख गई है।

इन शहरों में बुरी तरह प्रभावित हुई है होटल इंडस्ट्री
जेएलएल इंडिया के मुताबिक, दिल्ली, मुंबई, पुणे, चेन्नई, कोलकाता, जयपुर, अहमदाबाद, बेंगलुरू, गोवा, हैदराबाद, जयपुर और गुरूग्राम जैसे 11 शहरों में जनवरी से मार्च के बीच आक्युपेंसी रेट में जहां 5 से 17 फीसदी गिरावट आई। वहीं, रेवेन्यू में 13 से 29 फीसदी तक गिरावट आई है, कोविड-19 की वजह से साल 2020 की पहली तिमाही में डोमेस्टिक होटल और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर पर बुरा असर पड़ा है।