कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए अब लोग अलग अलग तरह के नुस्‍खे अपना रहे हैं जो खतरनाक भी साबित होते जा रहे हैं. ऐसा ही एक मामला छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में सामने आया. यहां पर होम्योपैथिक दवाई लेना एक पूरे परिवार को भारी पड़ गया. दवा खाने के चलते आठ लोगों की मौत हो गई. वहीं पांच अन्य की हालत गंभीर बनी हुई है. बिलासपुर के सीएमओ ने बताया कि सभी ने होम्योपैथिक दवाई ली थी जिसके बाद आठ लोगों की मौत हो गई और पांच को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

Advertisement

पूरे मध्यप्रदेश में बढ़ा लॉकडाउन, शिवराज ने दिए शक्ति से पालन करने के आदेश

सीएमओ ने बताया कि उसमें अल्कोहल की मात्रा काफी ज्यादा थी. फिलहाल स्वास्‍थ्य विभाग की टीम मामले की जांच कर रही है. विभाग की जांच होने के बाद रिपोर्ट से ही यह साफ हो सकेगा कि मौत के सही कारण क्या रहे. हालांकि प्रथमदृष्टया मौत का कारण होम्योपैथिक की दवाई लेना ही नजर आ रहा है.

मेडिकल छात्रों ने चिकित्सा मंत्री से लगाई जल्दी रिजल्ट और प्रैक्टिस शुरू करने की गुहार

ये थी दवाई

सीएमओ ने बताया कि पूरे परिवार ने होम्योपैथिक दवाई ड्रोसेरा 30 ली थी. इस 91 फीसदी तक अल्कोहल होता है जो देसी शराब के साथ मिलाया जाता है. इससे इसको लेना काफी खतरनाक हो जाता है और कई मामलों में ये लेने वालों के लिए जहर का काम भी करती है.

मध्यप्रदेश: कोरोना कर्फ़्यू में कुत्ते को भी हो गई जेल, जानिए क्या है पूरा मामला.?

चिकित्सक लापता

सीएमओ ने जानकारी दी कि परिवार के लोगों की मौत होने के साथ ही ये खबर तेजी से फैली और इसके बाद होम्योपैथिक दवा देने वाला चिकित्सक फरार हो गया है. पुलिस टीम चिकित्सक की तलाश कर रही है और उसके ठिकानों पर दबिश दी जा रही है.

साध्वी प्रज्ञा ने दिया विवादित बयान, कहा- संतो और वीरों की भूमि पर ताड़का की सरकार

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply