CAA को लेकर गृह मंत्री का बड़ा ऐलान,बताया इसे देश का क़ानून

CAA को लेकर गृह मंत्री का बड़ा ऐलान,बताया इसे देश का क़ानून

Share this News

CAA को लेकर गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा ऐलान, एक्शन मोड में केंद्र सरकार जानें कब पूरे देश में लागू होगा यह कानून..

लोकसभा चुनाव से पहले जहां एक और विपक्षी दल एकजुट होकर मोदी सरकार पर हावी है,तो दुसरी और केन्द्रीय भाजपा सरकार अपनी घोषणाओं और योजनाओे से जनता को लुभाने में जुटी है.आगामी लोकसभा चुनाव के पहले केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) बड़ी घोषणा की है।

देश कि राजधानी दिल्ली मे शनिवार को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान शाह ने दावा करते हुए कहा की 2024 के आम चुनाव से पहले पूरे देश में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) लागू कर दिया जाएगा।

CAA को लेकर गृह मंत्री का बड़ा ऐलान,बताया इसे देश का क़ानून
CAA को लेकर गृह मंत्री का बड़ा ऐलान,बताया इसे देश का क़ानून

दिल्ली पुलिस ने आतंकवादियों के लिए हथियार और गोला-बारूद लाने वाले को किया

किसी भी व्यक्ति की नागरिकता नहीं छीनेगा यह कानून

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के बारे केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि CAA किसी भी व्यक्ति की नागरिकता नहीं छीनेगा क्योंकि इसका उद्देश्य मात्र धार्मिक उत्पीड़न का सामना कर रहे पाकिस्तानी, अफगानिस्तानी और बांग्लादेशी अल्पसंख्यकों को नागरिकता देना है।

कांग्रेस ने विभाजन के वक्त बुलाया फिर मुकरा बोले शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस के उपर वादाखिलाफ़ी का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस कि अपनी बात से मुकर जाने कि पुरानी आदत है जब देश का विभाजन हुआ और वहां पर अल्पसंख्यकों को प्रताड़ित किया जाता था। उस दौरान वह सभी भारत में भाग कर आना चाहते थे, तब कांग्रेस ने कहा था कि आप यहां आइए, आपको यहां नागरिकता दी जाएगी।

जाति को लेकर कंफ्यूज है प्रधानमंत्री मोदी OBC हैं या अमीर-गरीब?:राहुल

 विपक्ष कर रहा मुसलमानों को गुमराह

अमित शाह ने विपक्षी दलों पर हमला करते हुए कहा कि हमारे मुस्लिम भाइयों को सीएए को लेकर गुमराह किया जा रहा है और भड़काया जा रहा है। सीएए केवल पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के धार्मिक अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने के लिए है।”

शाह ने ये भी साफ़ किया कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) का उद्देश्य हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाइयों सहित सताए गए गैर-मुस्लिम प्रवासियों को भारतीय नागरिकता प्रदान करना है, जो 31 दिसंबर, 2014 से पहले बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से भारत आए हैं।

उल्लेखनीय है कि दिसंबर 2019 में संसद द्वारा CAA के पारित होने और उसके बाद राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद देश के कई इलाक़ों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे।

साथ ही आगामी लोकसभा चुनाव के बारे में बात करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि यह चुनाव विकास के खिलाफ भ्रष्टाचार के बारे में है।

लोकसभा चुनाव से पहले मानदेय-भत्तों में वृद्धि,अगले महीने बढ़कर आएगी सैलरी आदेश जारी

“यह चुनाव भारत बनाम एनडीए के बारे में नहीं है। यह भ्रष्ट शासन बनाम भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस के बारे में है। यह चुनाव उन लोगों के बारे में है, जो राष्ट्रीय सुरक्षा सुरक्षित करना चाहते हैं बनाम उनके बारे में जो विदेश नीति के नाम पर राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालते हैं।”

आगामी आम चुनाव में मिलेंगी 400 से अधिक सीटें 

वहीं मौजूदा भाजपा सरकार के चाणक्य माने जाने वाले शाह ने दावा किया कि आगामी आम चुनाव में उनकी पार्टी को 370 सीटें और एनडीए को 400 से अधिक सीटें मिलेंगी और प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में लगातार तीसरी बार सरकार बनेगी।

शाह ने आगे कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों पर कोई सस्पेंस नहीं है क्योंकि ना सिर्फ़ कांग्रेस बल्कि अन्य विपक्षी दलों को भी यह एहसास हो गया है कि उन्हें एक बार फिर विपक्ष में रहना होगा।

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें

Advertisement
Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..