वैश्विक स्तर पर जारी कोरोना संकट के बीच अमेरिकी कच्चे तेल की कीमत में ऐतिहासिक गिरावट हुई है. मांग नहीं होने की वजह से कीमतें 0.01 डॉलर प्रति बैरल के नीचे पहुंच गई है

Advertisement

Capture

वैश्विक स्तर पर जारी कोरोना संकट के बीच अमेरिकी कच्चे तेल की कीमत में ऐतिहासिक गिरावट हुई है. मांग नहीं  होने की वजह से कीमतें 0.01 डॉलर प्रति बैरल के नीचे पहुंच गई है. बता दें कि दुनिया के 185 से अधिक देश कोरोनावायरस की चपेट में हैं. बता दें कि कोरोनावायरस संकट की वजह से दुनियाभर में घटी तेल की मांग के चलते इसकी कीमतें लगातार गिर रही हैं. इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब कच्चे तेल की कीमत इतना नीचे पहुंची है.

पालघर लिंचिंग पर भड़के संत, अखाड़ा परिषद की चेतावनी- एक्शन हो, नहीं तो करेंगे कूच…

अंतरराष्ट्रीय बजार में अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट कच्चा तेल का भाव सोमवार को गिर कर सोमवार को दो डॉलर प्रति बैरल के न्यूनतम स्तर पर आ गया. इससे पहले दिन में बाजार खुलने पर भाव यह 10.34 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया था जो 1986 के बाद इसका सबसे निचला स्तर था.
कोरोना की वजह से पिता के अंतिम संस्कार में नहीं जाएंगे CM योगी,लॉकडाउन का पालन करने की अपील की
व्यापारियों ने कहा कि कीमत में यह गिरावट चिंताजनक है क्योंकि मई डिलीवरी के अनुबंधों का निस्तारण सोमवार शाम तक कर दिया जाना है लेकिन कोई निवेशक तेल की वास्तविक डिलिवरी लेना नहीं चाह रहा है.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply