भोपाल में बेकाबू संक्रमण आधे को नहीं पता- कोरोना कैसे हुआ अब तक 13244 पॉजिटिव,आज 262 नए केस मिले

    राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण बेकाबू हो गया है। यहां पर बुधवार को 262 कोरोना के नए मामले सामने आए। सितंबर के नौ दिनों में हर रोज 200-250 नए मरीज मिले हैं। नौ दिन में करीब 1800 केस आ चुके हैं। वहीं संक्रमण से 28 लोगों की मौत हो गई है। राजधानी में 262 नए कोरोना संक्रमित मिलने के साथ ही कुल मरीजों का आंकड़ा 13244 हो गया है। लेकिन, इनमें करीब आधे यानी 6052 संक्रमित ऐसे हैं,

    Advertisement

    जिन्हें नहीं पता कि उन्हें कोरोना कैसे हुआ। जबकि ये मरीज न तो किसी संक्रमित के संपर्क में आए, न ही इनकी कोई कॉन्टैक्ट हिस्ट्री मिली है।

    यह खुलासा स्वास्थ्य मंत्रालय की भोपाल कोविड पेशेंट कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग रिपोर्ट से हुआ है। इसके मुताबिक 13244 मरीजों के संपर्क में 59374 थे। इनमें 50923 सिम्टोमेटिक (जिनमें लक्षण दिखे) थे। वहीं 8884 मरीज हाई रिस्क श्रेणी के थे। स्वास्थ्य संचालनालय के अफसरों ने बताया कि जिन 6052 मरीजों की कॉन्टैक्ट हिस्ट्री नहीं मिल रही, उनसे शहर में हजारों लोगों को संक्रमण फैसले की संभावनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता है।

    भोपाल के बड़े तलाब में कुदा युवक 20 से ज्यादा गोताखोर नही बचा पाए जान

    कोविड अस्पतालों में 8 दिन में 60 मरीजों की मौत

    राजधानी के कोविड अस्पतालों में मार्च से 8 सितंबर के बीच 324 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। इनमें से 33 की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 30 मिनट से लेकर 24 घंटे के बीच हुई। जिला प्रशासन की कोविड पेशेंट डेथ लाइन लिस्ट के मुताबिक, कोरोना से मरने वालों में 2 मरीज ऐसे हैं, जिनकी मौत घर से अस्पताल के बीच हो गई।

    कोविड संक्रमित जूनियर डॉक्टर्स ने मांगी रेमडेसीवर और टोस्कीजुमैव दवा
    गांधी मेडिकल कॉलेज के कोविड संक्रमित जूनियर डॉक्टर्स ने प्रबंधन से एंटी वायरल दवा रेमडेसीवर और टोस्कीजुमैव दिए जाने की मांग की है। इसके लिए कॉलेज के जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. अरविंद मीणा ने कॉलेज के प्रभारी डीन डॉ. जितेंद्र शुक्ला को ज्ञापन सौंपा है।

    डॉ. मीणा ने बताया कि कोविड संक्रमित जूनियर डॉक्टर्स के लिए प्रबंधन अलग से प्राइवेट कोविड वार्ड बनाए। उन्होंने जूनियर डॉक्टर्स की मांगों का निराकरण नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

    Advertisement
    Advertisement

    Leave a Reply