e-SIM बनाकर हो रही है ठगी,ऐसे रहें सावधान

e-SIM बनाकर हो रही है ठगी,ऐसे रहें सावधान

Share this News

साइबर ठगों से बचना आज के समय में मुश्किल हो गया है, इनसे बचने का सिर्फ एक ही तरीका है कि आप हमेशा सतर्क रहें. अगर आप जरा सी लापरवाही करते हैं, वैसे ही साइबर ठगों के जाल में आप फंस जाते हैं, मार्केट में अब साइबर ठगों ने नया जाल बिछाया है, जिसमें ये ठगी करने के लिए eSim ऐप से फ्रॉड को अंजाम दे रहे हैं.

अगर आप साइबर ठगों के चंगुल में नहीं फंसना चाहते हैं, तो आपको ये खबर पूरी पढ़नी चाहिए, क्योंकि यहां हम आपको e Sim ऐप से होने वाले फ्रॉड के बारे में जानकारी दे रहे हैं. जिसको जानकार इस फ्रॉड से सुरक्षित रहेंगे. आइए जानते हैं आखिर कैसे ई-सिम ऐप्स से फ्रॉड को अंजाम दिया जाता है.

10वीं-12वीं की परीक्षाएं 20 मार्च से होगी आयोजित,शेड्यूल जारी

कैसे होता है eSim ऐप से फ्रॉड

साइबर ठग इस फ्रॉड को थर्ड पार्टी ऐप की मदद से अंजाम देते हैं, इसके लिए वो आपके पास कोई मैसेज या कॉल करते हैं और एक ऐप इंस्टॉल करने के लिए गुमराह करते हैं. जैसे ही आप इस ऐप को इंस्टॉल करते हैं, वैसे ही आपकी ई-सिम वो तैयार कर लेते हैं और इसके बाद आप जानते ही है क्या होता है.

सरकार ने उठाया ये कदम

सरकार ने ई-सिम फ्रॉड में यूज होने वाले दो ऐप्स Airola और holafly को हटाने के निर्देश दिए है. इसके लिए सरकार ने गूगल प्ले स्टोर से ऐप्स को हटाने के लिए गूगल और ऐप स्टोर से हटाने के लिए एप्पल को आदेश दिया है.

जमीन से जुड़े मामलों को सुलझाने के लिए मध्य प्रदेश में 15 जनवरी से अभियान चलेगा

Airola और holafly के अलावा कई और e-SIM ऐप्स भी सरकार के निशाने पर हैं. इन ऐप्स के जरिए वॉइस कॉलिंग और इंटरनेट डाटा पैक मिलते हैं. ऐसे e-SIM बनाने के लिए किसी भी वेरिफिकेशन की जरूरत नहीं है. इस तरीके से ठगों के लिए अपराध करके बच निकलना आसान हो जाता है. फिलहाल Nomad और Alosim जैसी e-SIM ऐप्स भी उपलब्ध हैं

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें

Advertisement
Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..