मुसलमानों की चौथी और पांचवीं पीढ़ी हिंदू ही होगी,घर में रखें लाइसेंसी हथियार :उषा ठाकुर

मुसलमानों की चौथी और पांचवीं पीढ़ी हिंदू ही होगी,घर में रखें लाइसेंसी हथियार :उषा ठाकुर

Share this News

मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि भारत ही नहीं पूरे विश्व का भगवाकरण होना चाहिए, तभी मानवता के लिए सुख शांति आ पाएगी. भगवा का अर्थ त्याग और तपस्या है, भोग-विलास नहीं.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) सरकार की पर्यटन और संस्कृति-अध्यात्म मंत्री उषा ठाकुर (Tourism Minister Usha Thakur) अपने अजीबो-गरीब बयान के चलते एक बार फिर सुर्खियों में आ गई हैं. इस बार उन्होंने लोगों को घर पर लाइसेंसी हथियार (licensed weapon) रखने का सुझाव दिया है. उषा ठाकुर ने कहा कि वर्तमान में बढ़ रहे खतरों से निपटने के लिए हर घर में लाइसेंसी हथियार और शास्त्र रखा जाएं. उन्होंने आगे कहा कि घरों में महापुरुषों की फोटो भी लगाए जानी चाहिए. मंत्री ठाकुर ने कहा कि देश को सही इतिहास से वंचित रखा गया है. अब समय आ गया है कि देश को सही इतिहास बताया और पढ़ाया जाए.

मंत्री ठाकुर ने भोपाल में भोजपुर क्लब में राजपूत महापंचायत की महिला विंग द्वारा मंगलवार को आयोजित नारी शक्ति कार्यक्रम में ये बात कही है. उन्होंने कार्यक्रम में आगे कहा कि इतिहास उठाकर देख लीजिए, मुसलमानों की चौथी और पांचवीं पीढ़ी हिंदू ही होगी. मेरे सामने भी ऐसे कई उदाहरण हैं. उन्होंने RSS प्रमुख मोहन भागवत के बयान को पूरी तरह से सही बताया है.

पूरे विश्व में हो भगवाकरण

उन्होंने कहा कि भारत ही नहीं पूरे विश्व का भगवाकरण होना चाहिए, तभी मानवता के लिए सुख शांति आ पाएगी. भगवा का अर्थ त्याग और तपस्या है, भोग-विलास नहीं. अगर ये सभी गुण इंसानों में आ जाएं तो इससे अच्छा क्या होगा. मंत्री ठाकुर ने MBBS की पढ़ाई में RSS के नेताओं के पाठ शुरू करने के प्रस्ताव का भी समर्थन किया है. ठाकुर ने कहा जब प्रेरक व्यक्तियों का इतिहास पढ़ाया जाता है तो निश्चित ही सेवा भाव सभी में जागता है.

छत्‍तीसगढ़: सीएम भूपेश बघेल के पिता नंदकुमार बघेल को कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल,देखें वीडियो

राजपूतों की शौर्य गाथा दबाकर पढ़ाया गया बाबर-गजनी

ऊषा ठाकुर ने कहा कि आजादी के बाद की किताबों में मुगलों का ज्यादा ही महिमामंडन किया गया है. हमें इतिहास में बाबर और गजनी पढ़ाया गया, जबकि राजपूतों की शौर्य गाथाओं को दबा दिया गया. उन्होंने बच्चों को संस्कार देने और परिवार के बेहतर स्वास्थ्य के लिए अध्यात्मिक शिक्षा और नियमित पूजा-हवन करने का आह्वान भी किया है.

वहीं उन्होंने गीतकार जावेद अख्तर द्वारा तालिबान से RSS की तुलना करने वाले बयान को दुखद बताया है. उन्होंने कहा कि जिस देश ने जावेद अख्तर को नाम और शोहरत दी, उस देश के सेवाभावी संगठन के बारे में ऐसा कहना दुखद है. उनको बोलने से पहले सोचना चाहिए था. तालिबान के बर्बर शासन की तुलना संघ से करना बिल्कुल गलत है.

हमसे इंस्टाग्राम पर जुड़े

CBSE 10th क्लास के सैंपल पेपर जारी,ऐसे करें डाउनलोड Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा।