पाकिस्तान के असद रऊफ का 66 साल की उम्र में निधन,कभी थे ICC के पूर्व एलिट अंपायर,भारत ने लगाया था बैन अंत समय में जूते चप्पल बेचने को हुए थे मजबूर

पाकिस्तान के असद रऊफ का 66 साल की उम्र में निधन,कभी थे ICC के पूर्व एलिट अंपायर,भारत ने लगाया था बैन अंत समय में जूते चप्पल बेचने को हुए थे मजबूर

Share this News

ICC के पूर्व एलिट अंपायर असद रऊफ का 66 साल की उम्र में निधन,भारत ने लगाया था बैन अंत समय में जूते चप्पल बेचने को हुए थे मजबूर 

Former Pakistan Umpire Asad Rauf Died:असद रऊफ लाहौर में लांडा बाजार स्थित अपनी दुकान को बंदकर घर लौट रहे थे। तभी उन्हें बेचैनी महसूस हुई और सीने में दर्द होने लगा। उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया,जहां उन्होंने दम तोड़ दिया

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के एलीट पैनल के पूर्व अंपायर असद राउफ की मृत्यु हृदय की गति रुक जान के कारण 14 सितंबर, 2022 की रात को हो गई। 12 मई, 1956 को लाहौर में जन्मे असद राउफ ने अपने करियर में 64 टेस्ट में स्पोर्ट किया। उन्होंने 49 में एक फील्ड अंपायर के रूप में, जबकि 15 में एक टेलीविजन अंपायर के रूप में कार्य किया।

कोलकाता में ईडी ने मोबाइल गेम एप प्रमोटर के घर मारा छापा,17 करोड़ रुपए नगद बरामद

असद राउफ ने 139 ओडीआई और 28 टी 20 अंतर्राष्ट्रीय खेलों को भी अंपायर किया। असद राउफ ने नेशनल बैंक और पाकिस्तान के रेलवे के लिए 71 प्रथम श्रेणी के खेल भी खेले। वह बाद में एक अंपायर बन गए। उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भी प्रदर्शित किया, लेकिन 2013 में, उन्हें सट्टेबाजों के साथ मिलीभगत के कारण भारत में क्रिकेट कंट्रोल काउंसिल (बीसीसीआई) द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया था।

बीसीसीआई (BCCI) की अनुशासन समिति ने असद रऊफ को भ्रष्ट आचरण और खेल को बदनाम करने का दोषी पाया था। असद रऊफ पर सट्टेबाजों से महंगे उपहार लेने और आईपीएल 2013 के दौरान मैच फिक्सिंग मामले में होने का आरोप था।

विचारोदय न्यूज़ को डाउनलोड करें 

असद रऊफ ने हाल ही में एक पाकिस्तानी (Pakistani) समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें अब क्रिकेट में कोई दिलचस्पी नहीं है। असद रऊफ ने कहा था, ‘जब मैंने सारी उमर खिलाते हुए गुजार दी तो अब किसको देखना है।’ यह पूछने पर कि क्या वह इन दिनों खेल से जुड़े हुए हैं, असद रऊफ बोले थे कि वह 2013 के बाद क्रिकेट से बिल्कुल ही जुड़े हुए हैं। उनकी दलील थी कि जब वह कोई काम छोड़ देते हैं तो उसे छोड़ ही देते हैं।

असद रऊफ ने मैच फिक्सिंग आरोपों पर कहा था, ‘बाद में आए इन मुद्दों को छोड़ दिया जाए तो मैं अपना सर्वश्रेष्ठ समय आईपीएल में ही बिताया था। सट्टेबाजों से मेरा कोई लेना देना नहीं था। बीसीसीआई ने ही मुझ पर आरोप लगाए और उसने ही फैसला ले लिया।’

https://youtu.be/Eze2U8J1Fwg

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष रमीज राजा ने ट्वीट करके कहा, ‘असद रऊफ के निधन का समाचार सुनकर बहुत दुखी हूं। वह न सिर्फ अच्छे अंपायर थे, बल्कि उनमें हास्य का पुट भी भरा पड़ा था। वह मेरे चेहरे पर हमेशा मुस्कान बिखेर देते थे। जब भी मुझे उनकी याद आएगी तो वह ऐसा करेंगे। उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।’

असद रऊफ बाद में लाहौर (Lahore) के लांडा बाजार (Landa Bazar) में जूते-कपड़ों की एक दुकान चलाने लगे थे। दुनिया न्यूज ने असद रऊफ के भाई ताहिर के हवाले से बताया कि आईसीसी एलीट पैनल के पूर्व अंपायर लाहौर में लांडा बाजार स्थित अपनी दुकान बंदकर घर लौट रहे थे। तभी उन्हें बेचैनी महसूस हुई और सीने में दर्द होने लगा। उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन बचाया नहीं जा सका।

विचारोदय न्यूज़ को डाउनलोड करें 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..