मैनिट में बाघ ही है वन विभाग ने की पुष्टि,रात में किया गाय का शिकार ट्रेप कैमरे में नहीं हुआ कैद

मैनिट में बाघ ही है वन विभाग ने की पुष्टि,रात में किया गाय का शिकार ट्रेप कैमरे में नहीं हुआ कैद

Share this News

वन विभाग मैनिट में कि 6000 बच्चों की काउंसलिंग,संदिग्ध क्षेत्र में अकेले नहीं जाने की दी हिदायत

मैनिट में खौफ अब और बढ़ गया है वन विभाग नें मैनिट में बाघ होने की पुष्टि कर दी है यह सब एडल्ट बाघ है,हालांकि बाघ ट्रैप कैमरे में कैद नहीं हुआ है, लेकिन मंगलवार को देर रात जिस तरह से गाय का शिकार किया गया,उससे वन विभाग ने स्पष्ट कर दिया कि मैनिट में बाघ ही है। वन विभाग में मैनिट प्रबंधन के साथ मिलकर 6000 स्टूडेंट की अकाउंट ली है और उन्हें रात में या फिर अकेले कहीं भी ना जाने की हिदायत दी है। मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को 50 से ज्यादा वन विभाग के कर्मियों ने दिनभर बाघ की सर्चिंग जारी रखी व शेड्यूल के हिसाब से बाघ हर हरकत पर नजर रखे हुए हैं।

https://www.instagram.com/tv/CjZV74xggys/?utm_source=ig_web_copy_link

मैनिट में सोमवार को नजर आए हिंसक जानवर बाघ है या तेंदुआ यह असमंजस बुधवार की सुबह दूर हो गया। एक गाय और बछड़े को घायल करने के बाद मंगलवार की रात जिस तरह से एक अन्य गाय का शिकार किया गया उसे देखकर वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि यहां तेंदुआ नहीं बल्कि बाघ ही है और यह बाघ एडल्ट नहीं बल्कि सब एडल्ट है,वन विभाग द्वारा लगाए गए 6 ट्रेप कैमरों में बाघ कैद नहीं हुआ,क्योंकि जहां कैमरे लगाए गए थें। उससे लगभग डेढ़ सौ मीटर की दूरी में शिकार हुआ है। वन विभाग अब अपने कैमरों की लोकेशन चेंज कर रहा है,जिससे बाघ कैमरे में कैद हो जाए जिसकी सहायता से उसे पिंजरे में बंद किया जा सके। फिलहाल वन विभाग में कैमरे के साथ साथ पिंजरे की लोकेशन भी चेंज कर दी है साथ ही एक बकरा बांधा हुआ है।

सेना का चीता हेलीकॉप्टर क्रैश,एक पायलट की मौत

ड्रोन से नहीं हो पा रही निगरानी

बाघ पर नजर रखने के लिए मैनिट प्रबंधन द्वारा वन विभाग चार ड्रोन कैमरे उपलब्ध कराए गए है लेकिन वन विभाग के अनुसार एरिया में बाघ है वहां काफी हरियाली है जिसकी वजह से ड्रोन कैमरे से उस पर नजर नहीं रखी जा सकती

खौफ में हैं स्टूडेंट

आदिपुरुष फिल्म निर्माता पर भड़के मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा
वन विभाग द्वारा मैनिट परिसर में बाघ होने की पुष्टि के बाद से सभी स्टूडेंट को अपने हॉस्टल में ही रखा गया है और बहुत जरूरी काम होने पर है बाहर निकल रहे हैं,क्लासेस भी सही से नहीं लग रही है और यही हाल कर्मचारियों का भी है सब चाह रहे हैं जल्द से जल्द परिसर से बाघ निकले और खौफ खत्म हो सके जिससे चैन की सांस ली जाए

विचारोदय न्यूज़ को डाउनलोड करें 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..