मध्यप्रदेश में कोरोना के कारण अनाथ और बेसहारा हुए बच्चों की देखभाल शुरू कर दी है। शासन ने माना है कि कोरोना के कारण कई बच्चों के मां-बाप की मौत हो चुकी है। ऐसे में उनकी देखभाल के लिए आश्रय, संरक्षण और पुनर्वास के लिए प्रदेश के सभी जिलों में बालक एवं बालिकाओं के लिए फिट फैसिलिटी की व्यवस्था की गई है। इसके लिए 181 और 9407896571 नंबर जारी किए गए हैं।

Advertisement

भोपाल के JK हॉस्पिटल के कर्मचारी रेमडेसिवर कि काला बाज़ारी करते पकड़ाए

महिला एवं बाल विकास विभाग के मुताबिक ऐसे बच्चे जिनके माता पिता की मौत कोरोना के कारण हो गई है। उनकी व्यक्तिगत देखरेख योजना तैयार की गई है। उनकी उम्र के अनुसार उन्हें दत्तक ग्रहण अथवा फोस्टर केयर योजना से पारिवारिक पुनर्वास का प्रयास किया जाएगा।

भोपाल के आसपास के गाँव में नहीं हो सकेगा कोई आयोजन कलेक्टर ने दिया निर्देश

संक्रमित माता-पिता के बच्चों के लिए
जिन बच्चों के माता-पिता कोरोना संक्रमण के कारण अस्पताल में भर्ती हैं। उनके ठीक होने तक बच्चों को फिट फैसिलिटी में रखकर उनकी संपूर्ण देखभाल की जाएगी। बच्चों को खेलकूद मनोरंजन के साधन के अतिरिक्त आवश्यकतानुसार विशेषज्ञ काउंसलर के माध्यम से परामर्श सेवाएं दी जाएगी। फिट फैसिलिटी की मॉनिटरिंग की व्यवस्था जिला बाल संरक्षण अधिकारी एवं बाल कल्याण समिति के द्वारा की जाएगी।

इन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं
शासन द्वारा इसके लिए हेल्पलाइन नंबर 181 और वाट्सऐप नंबर 94078 96571 जारी किए गए हैं। इसके साथ ही ईमेल scpshelpline@gmail.com पर भी जानकारी शेयर की जा सकती है। इन नंबरों और मेल आईडी के अलावा बच्चों से संबंधित अन्य समस्याओं के लिए चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098 पर भी लोग कॉल कर सकते हैं।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply