भोपाल में कोरोना से पहली मौत हो गई है। शहर के इब्राहिमगंज के रहने वाले नरेश खटीक ने रविवार-सोमवार देर रात को 12.30 बजे दम तोड़ दिया। रविवार को ही युवक की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी। चार दिन पहले सांस लेने तकलीफ के चलते उन्हें नर्मदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

Advertisement

Capture

यहां पर डॉक्टर्स की टीम आइसोलेशन वार्ड में इलाज कर रही थी। अस्पताल की डायरेक्टर डॉ रेणु शर्मा ने बताया कि डॉक्टर्स की टीम ने उसे बचाने का पूरा प्रयास किया। लेकिन उसकी स्थिति में सुधार नहीं होने की वजह से मौत हो गई। उसके दोनों फेफड़े खराब हो गए थे। इधर, खटीक के बेटे गौरव ने बताया कि पिता नरेश बिट्टन मार्केट में चौकीदारी करते थे। चार दिन पहले उनकी तबीयत अचानक खराब होने के बाद उनको अस्पताल में भर्ती किया गया था।

तब्लीगी जमात की घटना न होती तो काफी धीमी होती भारत में कोरोना संक्रमण की रफ्तार

भोपाल में एक मौत के साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 41 हुई

भोपाल में रविवार को 23 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, इनमें 12 जमाती और 11 स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी शामिल हैं। सभी को एम्स में भर्ती कराया गया है। भोपाल में कुल संक्रमितों की संख्या 41 हो गई है। यहां इस समय कुल 39 संक्रमितों का इलाज चल रहा है। दो मरीजों की तीसरी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद शुक्रवार रात डिस्चार्ज कर दिया गया था। भोपाल में अब तक 20 जमाती संक्रमित पाए गए। प्रदेश में कुल 210 कोरोना पॉजिटिव हैं। इनमें 14 की मौत हो चुकी।

कोरोना के खिलाफ एकजुटता का बड़ा संदेश, 9 मिनट तक देश ने मनाई ‘दिवाली’…
मप्र में 210 कोरोना संक्रमित
मध्य प्रदेश में 210 कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इनमें इंदौर 128, भोपाल 41, मुरैना 12, जबलपुर 8, उज्जैन 7, खरगोन 4, बड़वानी 3, ग्वालियर, शिवपुरी और छिंदवाड़ा में 2-2 संक्रमित मिले। इंदौर 9, उज्जैन 3, खरगोन और छिंदवाड़ा में एक-एक पीड़ित की मौत हो चुकी है। इसमें भोपाल के 2 और शिवपुरी के एक मरीज स्वस्थ्य होने पर घर भेज दिया गया।नए मरीज सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीमें कैंटोनमेंट घोषित किए गए एरिया में जाकर घर-घर स्क्रीनिंग करेंगी। भोपाल में यह पहला मौका है जब एक साथ 23 मरीजों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। सभी मरीजों के घर के आसपास के एक-एक किलोमीटर के क्षेत्र को निषेध कर दिया गया है। इन आठों मरीजों के संपर्क में आए लोगों की सूची तैयार की जा रही है। सोमवार से स्वास्थ्य विभाग की टीम स्क्रीनिंग का काम शुरू करेगी। परिवार के लोगों को होम क्वारैंटाइन किया गया है।

भारत में 8 अप्रैल को दिखेगा सुपर पिंक मून, ऐसे देख सकते हैं लाइव

हेल्थ कॉर्पोरेशन के एमडी और एडी हेल्थ भी कोरोना पॉजिटिव
इससे पहले शनिवार को भोपाल में तीन कोरोना पॉजिटिव मिले थे। इनमें स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव और सीनियर आईएएस अधिकारी पल्लवी जैन गोविल, एडिशनल डायरेक्टर हेल्थ डाॅ. वीणा सिन्हा के अलावा भोपाल में आलू के बड़े व्यापारी अब्दुल गफ्फार की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इससे पहले हेल्थ कॉर्पोरेशन के एमडी और आयुष्मान योजना के सीईओ जे विजय कुमार की दो रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

सरकारी अस्पताल में मुस्लिम गर्भवती महिला को भर्ती करने से किया मना, नवजात की मौत

भोपाल में कैंटोनमेंट एरिया घोषित 
शहर के विचित्र नगर, प्रोफेसर कॉलोनी, दुर्गा नगर, सेमरा चांदबड़, अहाता रुस्तम खां, श्यामला हिल्स, तलैया, रहमानिया मस्जिद, हिंद कॉन्वेंट स्कूल के पीछे ऐशबाग और फार्च्यून प्राइड कॉलोनी त्रिलंगा को पहले ही कैंटोनमेंट क्षेत्र घोषित किया जा चुका है। शनिवार को बड़वाली मस्जिद, जहांगीराबाद, पुलिस लाइन टीटी नगर, चार इमली, 1250 शिवाजी नगर, इंद्रानगर और बाग उमराव दूल्हा को कैंटोनमेंट एरिया घोषित किया गया। संक्रमितों के निवास स्थल को एपीसेंटर घोषित कर उसके आसपास के 1 किमी क्षेत्र को निषेध एरिया और 2 किमी को बफर जोन घोषित कर दिया गया। रविवार को जो मरीज संक्रमित पाए गए, वे इब्राहिम गंज, गोविंदपुरा, होशंगाबाद रोड, कोलार, कान्हा टावर, तुलसी नगर और लोहा बाजार बाजार के निवासी हैं। अब इन इलाकों को भी निषेध क्षेत्र घोषित कर दिया गया है।

राहुल गांधी बोले- ताली बजाना, दीया जलाना हल नहीं, कोरोना से जंग के लिए ज्यादा टेस्ट जरूरी..

यहां के लोगों को 14 दिन क्वारैंटाइन 
कलेक्टर तरुण पिथौडे ने बताया कि कैंटोनमेंट  क्षेत्र से बाहर आने वाले व्यक्ति को स्क्रीनिंग कराना अनिवार्य होगा।  क्षेत्र के सभी व्यक्ति 14 दिन तक होम क्वारैंटाइन होंगे। संक्रमित व्यक्ति के स्थल को एपीसेंटर घोषित कर उसके आसपास के 50 घरों में स्क्रीनिंग की जाएगी। कैंटोनमेंट एरिया में स्वास्थ्य विभाग की रैपिड रिस्पांस टीम और मेडिकल मोबाइल यूनिट काम करेगी। क्षेत्र के सभी लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी। किसी भी व्यक्ति को सर्दी, खांसी, बुखार होने पर सूचना देना अनिवार्य होगा। पॉजिटिव के संपर्क वाले लोगों और उसके आसपास के क्षेत्र के लोगों को 14 दिन तक होम क्वारैंटाइन कर प्रतिदिन फॉलोअप लिया जाएगा। हैंड हाइजीन और पर्सनल हाईजीन के प्रोटोकाल का पालन करना अनिवार्य होगा। नगर निगम निषेध क्षेत्र को सैनिटाइज करके रास्तों को सील करने की कार्रवाई करेगा।

दूध औद दवाई की दुकान छोड़कर अब सब बंद

कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने के कारण प्रशासन ने भोपाल में सोमवार से टोटल लॉकडाउन का फैसला लिया है। इसके तहत दूध और दवाई की दुकानों को छोड़कर सभी तरह की दुकानें अगले आदेश तक बंद रहेंगी। आम नागरिक को सिर्फ पास की दूध और दवाई की दुकान तक अकेले जाने की अनुमति होगी। बाहर घूमने वाले और नियम तोड़ने वालों को पुलिस गिरफ्तार करेगी। यह आदेश आज रात 12 बजे यानी 6 अप्रैल (सोमवार) से लागू हो जाएगा। इसे अगले आदेश तक लागू रखा जाएगा। 21 दिन के लाॅकडाउन के तहत भोपाल में अब तक मंडी और किराना स्टोर्स खुले थे।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply