कृषि कानूनों की वापसी की मांग पर अड़े किसानों ने एलान किया है कि शुक्रवार (26 मार्च) को ‘भारत बंद’ किया जाएगा. संयुक्‍त किसान मोर्चा ने एलान किया है कि किसान आंदोलन के 120 दिन पूरे होने पर इस बंदी का आयोजन किया जा रहा है. किसान संगठनों की ओर से किए गए इस एलान को कांग्रेस, लेफ्ट, समेत कई विपक्षी दलों ने अपना समर्थन दिया है. किसान मोर्चा ने एलान किया है कि होलिका दहन के दिन नए कृषि कानूनों की प्रतियां जालाएंगे.

Advertisement

होली से पहले निपटा लें जरुरी काम, 10 दिन बंद रहेंगे बैंक

किसानों की ओर से कल के इस बंदी में कुछ चीजों को बंदी से राहत दी गई है. किसान नेताओं के अनुसार कल के बंदी में किसी कंपनी या फैक्‍ट्री को बंद नहीं करवाया जाएगा. मोर्चा के मुताबिक पेट्रोल पंप, मेडिकल स्‍टोर, जनरल स्‍टोर जैसी जरूरत की चीजें खुली रहेगी.

कोरोना पर मुख्यमंत्रियों के साथ PM मोदी की बैठक जारी, ममता बनर्जी नहीं हुईं शामिल

बता दें कि किसानों का यह संगठन दिल्ली के बॉर्डर पर पिछले 4 महीनों से कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहा है. बंदी के दौरान देशभर में सभी सड़कें, रेल परिवहन, बाजार और अन्य सार्वजनिक स्थानों को बंद करने का एलान किया गया है.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply