रेल की पटरियों पर खेल रहे तीन बच्चों को रौंदकर गया ईंजन

    Share this News

    घोड़ा फार्म रोड पर रेलवे लाइन पर खेल रहे तीन बच्चों की शंटिंग इंजन की चपेट में आने से मौत हो गई। इनमें दो सगे भाई हैं। सूचना मिलने पर रेलवे पुलिस ने बच्चों के शव पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवा दिए गए हैं।

    Capture

    जानकारी के अनुसार घोड़ा फार्म रोड पर निकट लगते सत्या नगर से 4 वर्षीय गोलू, 7 वर्षीय अजीत और 10 वर्षीय रवि खेलने के लिए रेलवे ट्रेक पर चले गए थे।ट्रेनों की आवाजाही बंद होने के चलते बच्चे ट्रैक पर खेलने लग गए। मंगलवार सायं करीब साढ़े पांच बजे शंटिंग इंजन ट्रैक से गुजरा, जिसकी चपेट में बच्चे आ गए। इनमें गोलू तथा अजीत सगे भाई हैं। मूलरूप से बिहार के जिला मधेपुरा निवासी मनोज कुमार और सुनील का परिवार सत्यानगर में एक ही आवास में रह रहा है।

    https://youtu.be/iInivaTBdH0

    वे यहां मजदूरी करने के लिए आए थे। गोलू और अजीत मनोज कुमार के बेटे थे, जबकि रवि के पिता सुनील कुमार हैं। तीनों बच्चे खेलते खेलते रेलवे ट्रैक पर चले गए थे। रेलवे पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है।
    भूख का कोई धर्म नहीं, कहीं सिक्खों ने लंगर लगाए तो कहीं रोजेदार खिला रहे हैं खिचड़ी

    मैटरनिटी हॉस्पिटल पर आतंकी हमला, दो नवजात समेत 14 की मौत; भारत ने गुनहगारों को सख्त सजा की मांग की

    एयर इंडिया का ऑफिस 2 दिन के लिए बंद

    ऑनलाइन पढ़ाई करना नहीं है खतरे से खाली