Encounter between poachers and police in Guna, 3 soldiers martyred

पुलिस द्वारा चारों तरफ से घिर जाने के बाद शिकारियों ने पुलिस टीम पर गोलियां चला दीं. जिसमें एसआई राजकुमार जाटव, हवलदार संतराम मीना, आरक्षक नीरज भार्गव की मौत हो गई.
Advertisement

मध्य प्रदेश के गुना से इस वक्त की बड़ी खबर सामने आ रही है. दरअसल वहां वन्य जीवों का शिकार करने पहुंचे शिकारियों और पुलिस के जवानों के बीच मुठभेड़ हो गई. इस मुठभेड़ में पुलिस के 3 जवानों के शहीद होने की खबर है. दरअसल शिकारियों ने पुलिस टीम पर अंधाधुंध गोलियां चला दीं, जिसमें तीन जवानों की मौत हो गई.

OBC आरक्षण पर शिवराज सरकार ने खेला आखिरी दांव,सुप्रीम कोर्ट में मंजूर हुई संशोधन याचिका,यह दिए थे तर्क

क्या है मामला
खबर के अनुसार, पुलिस को शिकारियों द्वारा काले हिरण का शिकार करने की सूचना मिली थी. जिसके बाद देर रात पुलिस ने शिकारियों को आरोन थाना क्षेत्र के बरखेड़ा गांव में घेर लिया. पुलिस द्वारा चारों तरफ से घिर जाने के बाद शिकारियों ने पुलिस टीम पर गोलियां चला दीं. जिसमें एसआई राजकुमार जाटव, हवलदार संतराम मीना, आरक्षक नीरज भार्गव की मौत हो गई.

घटना शनिवार तड़के 3 से 4 बजे के बीच की बताई जा रही है. घटना में मारे गए पुलिसकर्मियों के शव जिला अस्पताल लाए गए हैं. मौके पर एसपी, एएसपी सहित बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद हैं.

किसी भी स्थिति में 24 मई को चुनाव अनांउस करेगा राज्य निर्वाचन आयोग ने बुलाई इंटरनल बैठक, मध्यप्रदेश में ओबीसी आरक्षण की हलचल तेज

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि पुलिस को 7-8 बदमाशों के बारे में सूचना मिली थी. जिसके बाद पुलिस टीम ने उन्हें घेरकर पकड़ने की कोशिश की लेकिन बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी, जिसमें तीन जवानों की मौत हो गई. गृहमंत्री ने कहा कि अपराधी कोई भी हो, पुलिस से बच नहीं सकते.

वहीं सीएम शिवराज सिंह चौहान ने गुना की घटना पर सख्त रुख अपनाने के संकेत दिए हैं. सीएम ऑफिस की तरफ से किए गए ट्वीट में लिखा है कि मुख्यमंत्री गुना में देर रात हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के संबंध में सुबह 9.30 उच्चस्तरीय आपात बैठक करेंगे. बैठक में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, सीएस, डीजीपी, एडीजी, पीएस गृह सहित पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे.

सेक्स करते समय पत्नी कि मौत,मैरिज एनिवर्सरी पर सेक्स पॉवर को चैलेंज करना पड़ा भारी

मुठभेड़ के दौरान दोनों तरफ से लगभग 50 राउंड गोलियां चलीं. मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों की मौत के साथ ही पुलिस की सरकारी जीप के निजी ड्राइवर के हाथ में भी गोली लगी है. शिकारी पुलिस की एक इंसास राइफल भी लूटकर फरार हो गए. बताया जा रहा है कि शिकारी मोटरसाइकिल से जंगल में शिकार करने पहुंचे थे.वन अमले ने मौके से चार काले हिरणों और एक मोर का शव भी बरामद किया है. वन्य जीवों के शवों को भी पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है और ट्वीट कर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. बता दें कि देश में काले हिरण और मोर के शिकार पर पाबंदी है. इसके बावजूद शिकारी धड़ल्ले से इन वन्य जीवों का शिकार कर रहे हैं.

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply