कोलकाता में ईडी ने मोबाइल गेम एप प्रमोटर के घर मारा छापा,17 करोड़ रुपए नगद बरामद

कोलकाता में ईडी ने मोबाइल गेम एप प्रमोटर के घर मारा छापा,17 करोड़ रुपए नगद बरामद

Share this News

कोलकाता में ईडी ने मोबाइल गेम एप प्रमोटर के ऊपर मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत की कार्यवाई

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को कोलकाता में मोबाइल गेमिंग एप कंपनी के प्रमोटर्स के छ ठिकानों पर छापे डाले जिसमें अब तक ईडी ने 17 करोड़ रुपए से ज्यादा नगद बरामद किए हैं आपको बता दें यह छापे मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत मारे गए हैं ईडी ने एक फोटो जारी करके जानकारी दें की ईडी की कार्रवाई मोबाइल गेमिंग एप कंपनी “ई-नगेट्स” और इसके प्रमोटर आमिर खान और अन्य के ठिकानों पर छापामार कार्रवाई जारी है आपको बता दें फोटो में 2000 500 और ₹200 के नोटों के बंडल दिखाई दे रहे हैं।

कोलकाता में ईडी ने मोबाइल गेम एप प्रमोटर के घर मारा छापा,17 करोड़ रुपए नगद बरामद

ओणम सप्ताह में केरलवासियों ने पी 624 करोड़ रुपये की शराब, बुधवार को 117 करोड़ रुपये की बिक्री

ईडी ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि अभी चल रही है ईडी अभी पता लगा रही है कि क्या ऐप और इसके ऑपरेटर का चीनी एप्स कोई लिंक है जो लोगों को धोखे में रखकर कम दरों पर लोन देने का दावा करते हैं इन लोन ऑपरेटर्स की धमकियों के बाद इन एप्लीकेशन के चक्कर में फंसी कुछ यूजर्स ने अपनी जान तक दे दी।

ईडी ने बताया कि फेडरल बैंक ने सबसे पहले कंपनी के खिलाफ कोलकाता की कोर्ट में शिकायत की थी इसके बाद फरवरी 2021 में कोलकाता पुलिस ने कंपनी और इसके प्रमोटर के खिलाफ एफ आई आर दर्ज की थी शनिवार को ईडी ने छापेमारी कार्रवाई की इस दौरान कोलकाता की गार्डन रीच इलाके में केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान तैनात रहे।

पेटीएम,रेजरेप.कैशफ्री के 6 से ज्यादा ऑफिसों में ईडी की रेड,17 करोड़ रुपए जब्त

आपको बता दें इस घर से ईडी ने 17 करोड़ रुपए नगद बरामद किए मिली जानकारी के अनुसार कोलकाता के पार्क स्ट्रीट,मैकलियॉड स्ट्रीट, गार्डन रीच और मोमिनपुर में ईडी की अलग-अलग टीमें केंद्रीय सुरक्षा बलों के साथ सुबह से कार्यवाही कर रही है

धोखाधड़ी के लिए ही ऐप लॉन्च किया

ईडी ने आरोप लगाया कि आमिर खान की गेमिंग एप कंपनी “ई-नगेट्स” लोगों के साथ धोखाधड़ी करने के लिए ही लांच किया गया था इसमें शुरुआत में कंपनी ने यूजर्स को कमीशन दिया लोगों के वॉलेट में पैसा आया और आसानी से निकला जिससे कंपनी के प्रति लोगों में भरोसा बड़ा और लोग ज्यादा कमीशन पाने के लिए बड़ी रकम इन्वेस्ट करने लगे

जब यूजर्स के द्वारा इन्वेस्ट की गई बड़ी रकम कंपनी को मिल गई तो कंपनी ने अचानक पैसों की निकाली रोक दी और यूजर को तर्क दिया कि सिस्टम अपग्रेडेशन और सरकारी एजेंसियों की जांच के कारण पैसों की निकासी रोक दी गई है जिसके कुछ समय बाद ही सर्वर से पूरा डाटा यूजर की इनफार्मेशन के साथ मिटा दिया गया जिसके बाद यूजर्स को उनके साथ हुई धोखाधड़ी के बारे में पता चला

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..