बगीचे में गंभीर हालत में लहूलुहान अवस्था में मिली किशोरी

Advertisement

जहां देश में एक तरफ कोरोना संकट बना हुआ है वहीं दूसरी और महिलाओं और किशोंरियों के खिलाफ हो रहे अपराध बढ़ते ही चले जा रहे हैं और अपराध ऐसे जिनको सुनकर रूह कांप जाए ऐसा ही एक इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला मामला बिहार के मधुबनी जिले का सामने आया है जहां एक 17 साल की दिव्यांग किशोरी के साथ कुछ हैवानों ने हैवानियत दिखाई और उनका उससे भी मन न भरा तो पीड़िता की दोनों आंखें फोड़ दी ताकि वह आरोपियों की पहचान न करा सके और उसे मरने के लिए फेंक दिया पीड़िता की हालत नाजुक बनी हुुुई हैै

लड़कियों की शादी की उम्र 18 से बढ़कर 21 साल हो इस मुद्दे पर बहस होनी चाहिए :CM शिवराज

घटना मधुबनी जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र की है जहां एक किशोरी बिहार बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रही थी वह दिव्यांग बोलने और सुनने में असमर्थ थी जब वह मंगलवार दोपहर बकरी के लिए चारा लेने नदी किनारे गई तभी कुछ दरिंदों ने उसे अपना शिकार बना लिया काफी देर बाद भी जब वह घर ना लौटी तो परिजनों ने उसकी खोज खबर ली इसी दौरान वह एक बगीचे में गंभीर हालत में लहूलुहान अवस्था में मिली आरोपियों ने उसकी दोनों आंखें लकड़ी से फोड़ दी थी ताकि वह किसी की पहचान ना कर सके

विराट कोहली के घर आई नन्ही परी सोशल मीडिया पर दी खुशखबरी

परिजनों ने पीड़िता की हालत देख उसे तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया जहां गंभीर हालत के चलते डॉक्टर ने उसे मधुबनी सदर रेफर कर दिया वहां से उसे दरभंगा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया डॉक्टरों के अनुसार किशोरी की हालत अभी गंभीर है

कृषि कानून पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

मामले की जांच कर रही पुलिस ने दुष्कर्म में शामिल एक संदिग्ध को गिरफ्तार कर लिया है पुलिस बाकी आरोपियों की खोज में लगी है

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply