स्कूल बस्ते को लेकर लोक शिक्षण संचालनालय ने जारी की एडवाइजरी,इन्हें नहीं मिलेगा होमवर्क

स्कूल बस्ते को लेकर लोक शिक्षण संचालनालय ने जारी की एडवाइजरी,इन्हें नहीं मिलेगा होमवर्क

Share this News

स्कूल के बच्चों के बस्ते के बोझ को कम करने के लिए लोक शिक्षण संचालनालय ने जिम्मेदारी जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) को सौंपी।

मध्य प्रदेश लोक शिक्षण संचालनालय ने एडवाइजरी जारी करते हुए स्कूल बस्ते के वजन को लेकर नए नियम बनाए हैं आपको बता दे यह नियम सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में लागू होंगे नहीं एडवाइजरी के मुताबिक कक्षा 1 से 12वीं तक के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में हफ्ते में एक दिन नो बैग डे होगा।

स्कूल बस्ते को लेकर लोक शिक्षण संचालनालय ने जारी की एडवाइजरी,इन्हें नहीं मिलेगा होमवर्क
स्कूल बस्ते को लेकर लोक शिक्षण संचालनालय ने जारी की एडवाइजरी,इन्हें नहीं मिलेगा होमवर्क

आपको बता दे इस नियम में कक्षा 1 के स्टूडेंट के स्कूल बैग का अधिकतम वजन 2 किलो 200 ग्राम होगा जबकि 10वीं क्लास के स्टूडेंट्स के बस्ते का अधिकतम वजन 4.5 किलोग्राम होगा।

सतपुड़ा भवन में फिर लगी आग,फायर कर्मियों ने डेढ़ घंटे बाद पाया आग पर काबू

वहीं इस नियम में यह भी तय किया है कि पहली से दूसरी कक्षा तक के विद्यार्थियों को होम वर्क नहीं दिया जाएगा। उनकी अभ्यास पुस्तिकाएं, वर्क बुक और अन्य आवश्यक सामग्री स्कूल में ही रखने की व्यवस्था की जाएगी। स्कूल को नोटिस बोर्ड पर बस्ते के बोझ का चार्ट प्रदर्शित करना होगा। इस पर स्कूल की शाला प्रबंधन समिति नजर रखेगी। समिति इस तरह से समय सारणी तैयार करेगी कि विद्यार्थियों को प्रतिदिन सभी पुस्तकें/कापियां नहीं लानी पड़े और बस्ते का वजन भी नियंत्रित रहे।

स्वामी प्रसाद मौर्य ने सपा का छोड़ा साथ, MLC पद से दिया इस्तीफा

DEO हर तीन माह में करेंगे बस्ते की जांच

स्कूल बैग पॉलिसी के मुताबिक ही बस्ते का वजन हो, यह देखने और नियमों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जिम्मेदारी जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) को सौंपी गई है। वे प्रत्येक तीन माह में विद्यार्थियों के बस्ते की रेंडम जांच करेंगे।

बगैर पुस्तक के लगाई जाएंगी ये कक्षाएं

कम्प्यूटर, नैतिक शिक्षा, सामान्य ज्ञान, स्वास्थ्य, शारीरिक शिक्षा, खेल और कला की कक्षाओं में पुस्तकें लाना अनिवार्य नहीं होगा। विभाग ने साफ कहा है कि यह कक्षाएं बगैर पुस्तकों के ही लगाई जाएं।

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें

CBSE 10th क्लास के सैंपल पेपर जारी,ऐसे करें डाउनलोड Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा।