झाबुआ. हमेशा अपने बयानों से सियासी गलियारों में हलचल मचाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अब सन्यास लेना चाहते है। बुधवार को झाबुआ में खुद उन्होंने इस बात का ऐलान किया है। दिग्विजय का कहना है कि अब राजनीति से रिटायरमेंट लेने का वक्त आ गया है। मैंने और कांतिलाल भूरिया दोनों ने लंबे समय तक राजनीति की है। अब हम इस उम्र में पहुंच गए हैं जहां हमें संन्यास ले लेना चाहिए। नए नए लड़के आगे बढ़ेगे। कांतिलाल भूरिया भी अपना आखिरी चुनाव लड़ रहे हैं, इसलिए उन्हें ये चुनाव जितवाएं।

Advertisement

नच बलिए 9: प्रिंस नरूला ने शो छोड़ने का ऐलान किया..

बुधवार को बोरी में सभा को संबोधित करते हुए शिवराज के दोबारा सीएम बनने को लेकर कहा कि सरकार उनकी बन नहीं रही है और भाजपा में कौन मुख्यमंत्री बने, उसकी लड़ाई शुरू हो गई है। हमारे पास जितने चाहे उतने भाजपा के विधायक आने को तैयार है। एक विधायक कांग्रेस का इधर-उधर होने वाला नहीं है। सरकार चलेगी और एक-एक वादा पूरा करेंगे। दिग्गी ने कहा कि भाजपा अफवाह फैलाती है कि हम सरकार गिरा देंगे, छह माह सरकार नहीं चलेगी, लेकिन हम दावे के साथ कहते हैं कि पूरे पांच साल सरकार चलाकर दिखाएंगे व कांग्रेस का एक भी विधायक इधर से उधर नहीं होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार चरणबद्ध तरीके से किसानों का कर्जा माफ कर रही है।
करवा चौथ पर जानिए, चंद्रदर्शन का समय..

आरएसएस और बजरंग दल को घेरा

सिंह ने कहा कि बीजेपी आरोप लगा रही है कि कांग्रेस के राज में उनके कार्यकर्ताओ की हत्या हो रही है, लेकिन हत्यारे तो बीजेपी के ही लोग निकलते हैं. बजरंग दल और आरएसएस के लोग ही अपने कार्यकर्ताओं की हत्या में पकड़े जा रहे है।प्रदेश में भाजपा के सहयोगी संगठन से जुड़े लोग ही भाजपाइयों की हत्या करते हैं।

राम मंदिर मुद्दे पर 40 दिन चली सुनवाई आज हुई खत्म, सुप्रीम कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

बता दें कि झाबुआ में 21 अक्टूबर को उप-चुनाव होने वाला है।इस चुनाव को जीतने के लिए सत्ताधारी दल कांग्रेस और विपक्षी दल बीजेपी ने पूरा जोर लगा दिया है। कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया को उम्मीदवार बनाया है। वहीं बीजेपी ने भानू भूरिया को टिकट दिया है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply