EVM के खिलाफ धरना देने पहुंचे दिग्विजय सिंह को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

EVM के खिलाफ धरना देने पहुंचे दिग्विजय सिंह को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार
EVM के खिलाफ धरना देने पहुंचे दिग्विजय सिंह को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार
Share this News

दिल्ली के जंतर मंतर में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह EVM के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने वाले थे लेकिन परमिशन न होने के कारण दिल्ली पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है।

EVM हटाओ मोर्चा की मुहिम लिए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह दिल्ली के जंतर मंतर में EVM के खिलाफ 22 फरवरी को धरना प्रदर्शन करने वाले थे लेकिन धरना प्रदर्शन की मंजूरी नहीं मिलने पर दिल्ली पुलिस ने दिग्विजय सिंह को हिरासत में ले लिया है इसके बाद दिग्विजय सिंह ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट X पर लिखा की ‘मुझे दो हफ्ते पहले EVM हटाओ मोर्चा की ओर से 22 फरवरी को शांतिपूर्ण धरना देने का निमंत्रण प्राप्त हुआ था। धरना EVM से देश में लोकसभा चुनाव न कराने के मुद्दे को लेकर था। इसे मैंने स्वीकार किया था। 2 दिन पहले शांति पूर्ण धरने की स्वीकृति भी निरस्त कर दी गई। ‘

https://x.com/digvijaya_28/status/1760585503940788473?s=20

उन्होंने आगे लिखा, ‘इस बार पूरे देश से हजारों लोग धरने में शामिल होने आ रहे थे, इसलिए स्वीकृति निरस्त कर दी गई। क्या कारण है कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार इतना घबरा रही है? अब ‘EVM हटाओ, लोकतंत्र बचाओ’ आंदोलन देश के गांव-गांव में पहुंच रहा है। सुप्रीम कोर्ट को इसका संज्ञान लेना चाहिए।’

रेत माफिया ने मांगा GST मतलब गुंडा सर्विस टैक्स,ग्वालियर पुलिस ने किया गिरफ्तार

दिग्विजय बोले- इलेक्शन कमीशन पर भरोसा नहीं

दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘EVM का मुद्दा 2018 से चला आ रहा है। AICC के सर्वसम्मति से पारित राजनीतिक प्रस्ताव में यह उल्लेख था कि लोगों को EVM को लेकर शंका है, इसलिए चुनाव बैलेट पेपर से होना चाहिए।

https://x.com/digvijaya_28/status/1760586855568093265?s=20

इसे लेकर कोई भी सवाल पूछने पर इलेक्शन कमीशन कोई जवाब नहीं देता है। हमें इलेक्शन कमीशन पर भरोसा नहीं है।’

उन्होंने कहा, ‘लोकतंत्र में जनता से बढ़कर कोई नहीं होता है। हम जनता के साथ मिलकर लड़ाई लड़ेंगे। BEL कंपनी EVM बनाती है, उसके चार डायरेक्टर्स भाजपा नेता हैं। मांगने पर हमें टेक्निकल कमेटी के मेंबर की रिपोर्ट नहीं दिखाई जाती है। कमेटी के सदस्य कौन होंगे? प्रधानमंत्री या उनका मनोनीत कोई मंत्री होगा। जो वो कहें, सो ठीक।’

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें