लाहौर: कश्मीर मामले में दुनिया के तमाम देशों के साथ-साथ कई मुस्लिम देशों का समर्थन नहीं मिलने से पाकिस्तान की परेशानी और बढ़ गई है. ऐसे समय में जब बहरीन और संयुक्त अरब अमीरात जैसे देश भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने सर्वोच्च सम्मान से नवाज रहे हैं, पाकिस्तान की यह बेचैनी खुलकर सामने आ गई है.images (1).jpeg
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की सूचना एवं प्रसारण मामलों की सलाहकार डॉ. फिरदौस आशिक अवान ने लाहौर में एक प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर कहा कि इमरान दुनिया का ध्यान कश्मीर में हो रहे ‘जुल्म’ की तरफ दिला रहे हैं

यह यी पढे़   मोदी-ट्रंप की बातचीत से घबराए इमरान, आधी रात पाकिस्तान में मची ‘भगदड़

लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि अपने आर्थिक हितों के कारण कुछ मुस्लिम देश कश्मीरियों के ‘संहार’ को लेकर सहानुभूतिपूर्ण रवैया नहीं अपना रहे हैं.

 

कश्मीर में गिरफ्तारी की खबरों से भारतीय मूल की अमेरिकी सांसद परेशान, बोलीं- ये बिल्कुल…

उन्होंने कहा कि यह दुखद है कि दुनिया कश्मीरियों के ‘संहार’ को लेकर उपेक्षापूर्ण रवैया अपनाए हुए है. उन्होंने कहा कि ‘मानवाधिकारों के चैंपियनों को कश्मीरियों को बचाने के लिए आगे आना चाहिए.’ अवान ने कहा कि मोदी ने कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र के ग्यारह प्रस्तावों का उल्लंघन किया

यह यी पढे़  राजनाथ सिंह को जबाब,जाने क्या कहा विदेश मंत्री कुरैशी ने?

लेकिन ‘दुनिया ने’ इसकी तरफ ध्यान तक नहीं दिया.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक बार फिर कश्मीरियों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए एक विशेष एकजुटता दिवस मनाएगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री खान आने वाले हफ्ते में राष्ट्र को संबोधित करेंगे. अवान ने कहा कि ‘हमारी शांति की इच्छा को भारत हमारी कमजोरी न समझे. भारत जंग शुरू कर सकता है लेकिन इसका समापन पाकिस्तान करेगा. भारत ने अगर जंग थोपी तो हम इसका खात्मा दिल्ली में करेंगे.’

@vicharodaya

यह यी पढे़

     मोदी-ट्रंप की बातचीत से घबराए इमरान, आधी रात पाकिस्तान में मची ‘भगदड़

आर्टिकल 370 पर शिवराज सिंह ने नेहरू को लेकर दिया विवादास्पत बयान,मचा बवालपाकिस्तान से मिला

राजनाथ सिंह को जबाब,जाने क्या कहा विदेश मंत्री कुरैशी ने?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here