धनतेरस पर मां लक्ष्‍मी के साथ महालक्ष्‍मी यंत्र की पूजा भी होती है।

धनतेरस (Dhanteras) इस बार 2 नवंबर को मनाया जा रहा है। धनतेरस पर मां लक्ष्‍मी के साथ महालक्ष्‍मी यंत्र की पूजा भी होती है। हर साल कार्तिक तेरस यानी 13वें दिन धनतेरस होता है। धनतेरस धनत्रयोदशी (Dhantrayodashi), धन्‍वंतरि त्रियोदशी (Dhanwantari Triodasi) या धन्‍वंतरि जयंती (Dhanvantri Jayanti) भी कही जाती है।

Advertisement

हिंदू धर्म में लोग शुभ तिथियों पर घर में रंगोली बनाने का विधान है। मान्यता है कि इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। घर-परिवार पर देवी लक्ष्मी की असीम कृपा बरसती है। जीवन में अन्न, धन व रिश्तों संबंधी समस्याएं दूर होती है। कारोबार व नौकरी में तरक्की के रास्ते खुलते हैं। ऐसे में लोग खासतौर पर रंगोली बनाते हैं।

दिवाली से पहले महंगाई का जोरदार झटका, 268 रुपये महंगा हुआ LPG गैस सिलेंडर, यहां चेक करें अपने शहर के नए रेट्स

इस दिन मां लक्ष्मी को खुश करने के लिए घरों को लाइटों से सजाया जाता है। घर के मुहाने पर मां के आगमन की खुशी में रंगोली बनाई जाती है। रंगोली बनाकर मां का स्वागत किया जाता है। लोग तरह – तरह के रंगोली डिजाइन बनाते हैं। जिससे मां लक्ष्मी और कुबरे खुश होकर अपने भक्तों पर धन की वर्षा करें।

यहां देखें 10 सुंदर डिजाइन

अगर आप भी धनतेरस पर रंगोली डिजाइन की तलाश कर रहे हैं, तो यहां पर आप बेहतरीन डिजाइन को चुन सकते हैं।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply