सरकारी विभागों में प्राइवेट गाड़ियां लगाकर हो रहा लाखों का भ्रष्टाचार.!

सरकारी विभागों में प्राइवेट गाड़ियां लगाकर हो रहा लाखों का भ्रष्टाचार.!

Share this News

कांग्रेस ने प्रकरण की जांच ईओडब्ल्यू व लोकायुक्त से कराए जाने की मांग की है

सरकारी विभागों में प्राइवेट गाड़ियां ,,मध्य प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष व समस्त प्रकोष्ठ के प्रभारी जेपी धनोपिया ने मंगलवार को पत्रकारों से चर्चा के दौरान आरोप लगाया कि मध्य प्रदेश में सरकारी वाहनों के नाम पर जनता की गाढ़ी कमाई लूटी जा रही है शासकीय नियमों एवं प्रावधानों की धज्जियां उड़ाते हुए सरकार के मंत्रियों का स्टाफ और उनके विभाग के अधिकारियों को मिले प्राइवेट वाहनों पर नियम विरुद्ध तरीके से हर माह लाखों रुपए की राशि खर्च की जा रही है

मध्य प्रदेश कांग्रेश सूचना का अधिकार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पुनीत टंडन ने कहा कि आरटीआई से प्राप्त दस्तावेज बताते हैं कि किस तरह करोड़ों रुपए की लूट हो रही है इसमें मंत्रियों के अलावा अधिकारी वर्ग भी शामिल है जो हर महीने 3000 किलोमीटर तक घूम रहे जबकि निर्धारित पात्रता हजार किलोमीटर की है

आयुष्मान कार्ड कैसे बनवाएं..और इसमें कौन-कौन व्यक्ति लाभ ले सकता है,जानें पूरी जानकारी

सरकारी विभागों में प्राइवेट गाड़ियां के साथ मंत्रियों के आधा दर्जन से ज्यादा बाहर 7000 किलोमीटर से अधिक तक हर माह चल रहे हैं, जिनका भुगतान भी निर्धारित किराए 47,245 रुपए के बाद अतिरिक्त लगभग ₹10 प्रति किलोमीटर के हिसाब से किया जा रहा है उन्होंने कहा कि हमारी मांग है वाहन आवंटन की पूरी जांच, भुगतान किए गए समस्त बिल बाउचरों एवं नियम अनुसार वाहन लगाए जाने की प्रक्रिया की जांच हो।

7 साल से बंद पड़ा भोपाल का बरखेड़ी फाटक,मंत्री और डीआरएम की घोषणा के बाद 3KM का चक्कर लगा रहे लोग

सरकारी विभागों में प्राइवेट गाड़ियां के मामले पर दोषी अधिकारियों पर कार्यवाही हो एवं शासन को जो करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है उसकी भरपाई हो इसके साथ ही कांग्रेस ने प्रकरण की जांच ईओडब्ल्यू व लोकायुक्त से कराए जाने की मांग की है।

Download our App Now

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..