कोरोना से शेयर बाजार में गिरावट..

    Share this News

    हरे निशान में सोमवार को खुला शेयर बाजार काफी टूट गया है. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स सुबह करीब 36 अंकों की बढ़त के साथ 31,195.72 पर खुला था. सुबह 10.21 बजे तक 627 अंक टूटर 30,532.18 तक पहुंच गया. वहीं निफ्टी करीब 158 अंक टूटकर 8,953.05 पर पहुंच गया.

    पी. चिदंबरम ने पूछा कि क्या सरकार यह बताएगी कि कैसे बिना नगदी गरीब लोग अपना गुज़ारा करेंगे?

    सुबह बाजार में कारोबार की शुरुआत हरे निशान में हुई थी. करीब 836 शेयरों में तेजी और 394 शेयरों में गिरावट देखी गई. सोमवार को तेल की कीमतों में प्रति बैरल 1 डॉलर से ज्यादा की तेजी आई है. इससे पहले ओपेक देशों ने बातचीत से प्राइस वॉर खत्म कर लिया. उनमें यह सहमति बनी है कि वो हर दिन 1 करोड़ बैरल तक प्रोडक्शन में कमी करेंगे.

    उद्योग मंत्रालय ने गृह मंत्रालय से की सिफारिश की है कि ऑटो, इलेक्ट्रॉनिक्स समेत 15 इंडस्ट्री को शर्तों के साथ कामकाज की छूट दी जाए. हालांकि इस पर अभी अंतिम फैसला नहीं हुआ है.

    जो देश अपने नागरिकों को वापस नहीं ले रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई करेगा यूएई..

    पिछले हफ्ते ऐसा था बाजार का हाल!

    पिछले पूरे हफ्ते की बात करें तो इस बार सिर्फ तीन दिन बाजार खुला रहा. सप्ताह के पहले दिन यानी सोमवार को महावीर जयंती के मौके पर बाजार में कारोबार नहीं हुआ था. वहीं मंगलवार को शेयर बाजार ने रिकॉर्ड बढ़त देखी थी. अंत में सेंसेक्स 2476.26 अंक या 8.97 फीसदी की तेजी के साथ 30,067.21 अंक पर बंद हुआ.

    वहीं निफ्टी की बात करें तो ये 702.10 अंक या 8.69 फीसदी की बढ़त के साथ 8,785.90 अंक पर रहा. बाजार में तेजी की वजह से बीएसई इंडेक्स के मार्केट कैप में बड़ी बढ़ोतरी हुई और इस दिन निवेशकों को करीब 8 लाख करोड़ का फायदा हुआ है.

    कोरोना के कहर का साया इस सप्ताह भी बना रहेगा!

    कोरोना के कहर का साया देश के शेयर बाजार पर इस सप्ताह भी बना रहेगा, हालांकि वैश्विक संकेतों से घरेलू बाजार को दिशा मिलेगी. साथ ही, प्रमुख आर्थिक आंकड़ों और देशव्यापी लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर सरकार के फैसले पर निवेशकों की नजर बनी रहेगी.

    पी. चिदंबरम ने पूछा कि क्या सरकार यह बताएगी कि कैसे बिना नगदी गरीब लोग अपना गुज़ारा करेंगे?

    पिछले सप्ताह विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों और कोरोना के प्रकोप से मिल रही आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए सरकार द्वारा एक और राहत पैकेज की उम्मीदों से दलाल स्ट्रीट की रौनक बनी रही जिसका इस सप्ताह भी निवेशकों को इंतजार रहेगा.