देश की जनता के लिए ही केंद्र सरकार ने देशव्यापी बंद या कहें लॉकडाउन किया है, जिसके चलते बस ट्रेन सेवाएं सब कुछ बंद है, लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की सलाह दी जा रही है, लेकिन इसका कुछ लोग सख़्ती से पालन नहीं कर रहे हैं एवं देशबंदी की धज्जियां उड़ा रहे है। महाराष्ट्र जैसा मामला अब राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी सामने आया है, चालाकी के साथ लोग एक जगह से दूसरी जगह प्रस्थान कर रहे हैं।

क्या है यह मामला!

दरअसल मामला यह है कि, दो ट्रक 60 मजदूरों को भरकर दिल्ली से बिहार की ओर ले जा रहे थे, तभी सुभाष प्लेस पुलिस ट्रक वाले को धर दबोचा।

कोरोना का कहर: कोरोना से दुनिया का इतना हिस्सा हुआ लॉकडाउन..

दोनों ट्रक चालकों को किया गिरफ्तार!

इसी मामले को लेकर पुलिस द्वारा इन दोनों ट्रक के चालकों को गिरफ्तार कर लिया है, साथ ही वाहन को भी जब्त किया है। बताया जा रहा है कि, ट्रकों को उस वक्त पकड़ा गया जब शकूरपुर स्थित रिंग रोड पर रविवार रात के समय पुलिस बैरिकेड लगाकर जांच कर रही थी, इसी दौरान रात करीब एक बजे के आस-पास पुलिस ने एक ट्रक को रोका। वहीं थोड़ी देर बाद ही दूसरे ट्रक को भी धर दबोचा। पुलिस ने जब जांच की तो इस बात का खुलासा हुआ कि, दोनों ट्रकों में लगभग 60 मजदूर बैठे हुए हैं।

कोरोना का कहर: कमलनाथ बोले लॉक डाउन का करें पालन..

तिरपाल से ढका था ट्रक का पिछला हिस्सा !

खबरों के अनुसार, यह बात भी सामने आई है कि, ट्रक का पिछला हिस्सा विशेष रूप से तिरपाल से ढका हुआ था, जब तिरपाल को हटाया तो ट्रक के अंदर 32 मजदूर अपने सामान लेकर बैठे हुए मिले, जो लारेंस रोड इंडस्ट्रियल एरिया में कार्य करते थे और लॉकडाउन होने के बावजूद भी ट्रक से बिहार जा रहे थे। वहीं दूसरे ट्रक में बैठे लोग कीर्ति नगर, नांगलोई इलाकों में मजदूरी करते थे।

कोरोना का कहर: मार्केट बंद पर मार्केटिंग चालू..

माना जा रहा है कि, मजदूरों को ट्रक में चालाकी से इसलिए ये जाया जा रहा था, क्योंकि लॉकडाउन में सिर्फ आवश्यक सेवाओं के लिए ही ट्रकों के मूवमेंट की इजाजत दी गई है, इसी का ट्रक चालक ने फायदा उठाया है और ट्रक चालक ने प्रति व्यक्ति 2000 रुपये लेकर घर तक पहुंचाने का वादा किया था। पुलिस ने सभी मजदूरों को उनके स्थानीय पते पर छोड़ दिया है और चालक को गिरफ्तार कर लिया है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply