राहुल गाँधी
राहुल गाँधी

प्रदेश कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी के सूरत दौरे को देखते हुए कार्यकर्ताओं का हुजूम एयरपोर्ट भी पहुंच सकता है.

Advertisement

कांग्रेस नेता और वायनाड के सांसद राहुल गांधी शुक्रवार को सूरत के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश होंगे और भाजपा विधायक पूर्णेश मोदी द्वारा उनकी “मोदी उपनाम टिप्पणी” को लेकर दायर एक आपराधिक मानहानि मामले में अपना बयान दर्ज करेंगे. एएन दवे की मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अदालत ने राहुल को 25 अक्टूबर को अदालत में दो गवाहों के बयान के बाद अदालत में पेश होने का निर्देश दिया है.राहुल इससे पहले 24 जून को अदालत में पेश हुए थे.यह मामला 13 अप्रैल, 2019 को कर्नाटक के कोलार में लोकसभा चुनाव रैली में राहुल की कथित टिप्पणी से संबंधित है.रैली के दौरान, राहुल ने कथित तौर पर कहा था, “सभी चोरों के नाम पर मोदी क्यों हैं, चाहे वह नीरव मोदी, ललित मोदी और नरेंद्र मोदी हों?”

राहुल गाँधी
राहुल गाँधी

गुजरात मोढवणिक समाज के अध्‍यक्ष पूर्णेश मोदी की शिकायत पर कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष व सांसद राहुल गांधी पर सूरत में आइपीसी की धारा 499 व 500 के तहत एक मुकदमा दर्ज किया गया था.पूर्णेश मोदी गुजरात की सरकार में पर्यटन और परिवहन मंत्री हैं. इस मामले में राहुल सूरत की कोर्ट में दो बार पेश हो चुके हैं. दो नए गवाहों की गवाही के बाद अदालत ने राहुल को फिर हाजिर होने का मौखिक निर्देश दिया है. गुजरात में अगले साल विधानसभा चुनाव है, इसलिए गुजरात कांग्रेस राहुल के इस दौरे को उत्‍सव व राजनीतिक रैली के रूप में तब्‍दील करने की जोर शोर से तैयारी कर रही है.

2 बजे पहुंचेंगे सूरत

सूरत शहर कांग्रेस समिति की गुरुवार को एक बैठक हुई. इसमें राहुल गांधी की सूरत यात्रा की तैयारियों पर चर्चा की गई. सूरत एयरपोर्ट पर राहुल अपरान्ह दो बजे के करीब पहुंचेंगे. यहां उनका जोरदार स्‍वागत किया जाएगा. गौरतलब है कि गुजरात प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष व नेता विपक्ष के लिए राज्‍य में नेताओं की तलाश चल रही है और प्रदेश कांग्रेस के आला नेताओं के साथ राहुल नई दिल्‍ली में कई दौर की बैठकें भी कर चुके हैं.

गुजरात कांग्रेस के प्रभारी व राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री डा रघु शर्मा ने इस मामले को नया मोड़ देते हुए बीजेपी पर परेशान करने का आरोप लगाया. उनका कहना है कि कांग्रेस कई दशकों तक देश में सत्ता में रही. इस दौरान बीजेपी के नेताओं ने कांग्रेस के नेताओं व प्रधानमंत्रियों के खिलाफ तरह-तरह की बयानबाजी की, लेकिन कांग्रेस नेता कभी भी इनके खिलाफ अदालत में नहीं गए. रघु शर्मा ने कहा कि बीजेपी कांग्रेस व विपक्ष के नेताओं को हैरान परेशान करने के लिए हथकंडे अपना रही है. शर्मा का आरोप है कि सत्ता में रहकर बीजेपी ने गरीब पिछड़ों के लिए कोई भलाई के काम नहीं किए. कोरोना महामारी के दौरान बीजेपी सरकारों का रवैया जनविरोधी व जनता की उपेक्षा भरा रहा. शर्मा ने कहा कि कांग्रेस महंगाई, भ्रष्टाचार व बीजेपी की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ सड़कों पर उतरेगी और पूरी ताकत के साथ आंदोलन को चलाएगी.

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply