उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के पिता आनन्द सिंह बिष्ट (Anand Singh Bisht) की लंबी बीमारी के बाद आज सुबह 10 बजकर 44 मिनट पर निधन हो गया है. उनकी उम्र 89 वर्ष थी. तबीयत बिगड़ने की वजह से उन्हें पिछले महीने दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था. सीएम योगी आदित्यनाथ ने बयान में कहा कि वह कोरोनावायरस महामारी के चलते मंगलवार (21 अप्रैल) को अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाएंगे. साथ ही उन्होंने अपील की है कि लॉकडाउन का पालन करते हुए कम से कम लोग अंतिम संस्कार में रहें.

Advertisement

Capture

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “अंतिम क्षणों में पिता के दर्शन की इच्छा थी, परंतु वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के खिलाफ देश की लड़ाई को उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ जनता के हित में आगे बढ़ाने के कर्तव्यबोध

पालघर लिंचिंग पर भड़के संत, अखाड़ा परिषद की चेतावनी- एक्शन हो, नहीं तो करेंगे कूच…

के कारण मैं नहीं कर सका. कल 21 अप्रैल को अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में लॉकडाउन की सफलता और महामारी कोरोना को परास्त करने की रणनीति के कारण भाग नहीं ले पा रहा हूं.”

Capture

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता को पेट मे दर्द और सांस लेने की तकलीफ की वजह से बीते 12 मार्च को दिल्ली स्थित एम्स में उन्हें भर्ती कराया गया था. हंसमुख स्वभाव के धनी आनन्द सिंह बिष्ट फारेस्ट विभाग के रेंज अधिकारी के पद से रिटायर होने बाद सामाजिक कार्यो में व्यस्त रहते थे.

पालघर लिंचिंग पर भड़के संत, अखाड़ा परिषद की चेतावनी- एक्शन हो, नहीं तो करेंगे कूच…

सीएम योगी के पिता ने  उत्तराखंड के यमकेश्वर क्षेत्र में उच्च शिक्षा के लिए  साल 1998 में गुरु गोरखनाथ महाविद्यालय खोला था. इसके अलावा उन्होंने अलग राज्य के शुरू किए गए आंदोलन में भी हिस्सा लिया था. आनंद सिंह बिष्ट के परिवार में उनकी पत्नी, तीन बेटे और चार बेटियां हैं.

किसान-मजदूर और आर्थिक मदद, PM मोदी के 7 आग्रहों पर कांग्रेस ने दागे 7 सवाल..

उनके निधन के बाद यमकेश्ववर में अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही है. वीआईपी मूवमेंट को देखते हुए वहां दो हेलीपैड बनाए गए हैं. सीएम योगी के पिता के पार्थिव शरीर को दिल्ली से सड़क के रास्ते यमकेश्वर लाया जा रहा है.

 

https://www.youtube.com/watch?v=Mk7Rky4nxcQ&t=10s
Advertisement
Advertisement

Leave a Reply