आर्बिटर की भेजी तस्वीरों से विक्रम की लोकेशन मिली, लेकिन लैंडर से नहीं हो पाया संपर्क: इसरो

    नई दिल्ली.

    Advertisement
    भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) ने चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की सही लोकेशन का पता लगा लिया है। इसरो के मुताबिक, आर्बिटर से भेजी गई तस्वीरों से इसकी सही लोकेशन के बारे में पता लगाया गया है। हालांकि, अभी लैंडर से संपर्क नहीं हो पाया है।

    इसरो चीफ के सिवन ने बताया कि चांद की सतह पर लैंडर विक्रम की लोकेशन पता लगाने में कामयाब हुए हैं। आर्बिटर से भेजी गईं थर्मल तस्वीरों के जरिए लोकेशन का पता लगाया गया है। हालांकि, अभी उससे संपर्क नहीं हो पाया। हम लगातार संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं।

    लैंडिंग से सिर्फ 69 सेकंड पहले टूटा था संपर्क
    चंद्रयान-2 मिशन के तहत लैंडर विक्रम की शुक्रवार-शनिवार रात 1 बजकर 53 मिनट पर चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग होनी थी। लेकिन लैंडर विक्रम का संपर्क लैंडिंग से सिर्फ 69 सेकंड पहले इसरो से संपर्क टूट गया था। तभी से वैज्ञानिक लगातार संपर्क साधने में जुटे थे। जब विक्रम चांद के दक्षिणी ध्रुव की सतह से 2.1 किमी दूर था, उसी वक्त लैंडर का धरती से संपर्क टूट गया था।

    पिछला लेखChandrayaan-2: आज सुबह 8 बजे ISRO सेंटर से देश को संबोधित करेंगे PM मोदी
    अगला लेखदिखी मालवी संस्कृति की झलक बच्चों ने दी मनमोहक प्रस्तुतियां
    तेजी से बदलती इस दुनिया में तमाम खबरें पाने का एक मंच..होगी हर खबर पर विचारोदय ऑनलाइन खबरी की नजर.. Email:- vicharodaya@gmail.com

    Leave a Reply

    %d bloggers like this: