लोकसभा सीट के उम्मीदवारों को लेकर,भोपाल के दफ्तर में बीजेपी का मंथन शुरू

लोकसभा सीट के उम्मीदवारों को लेकर,भोपाल के दफ्तर में बीजेपी का मंथन शुरू
लोकसभा सीट के उम्मीदवारों को लेकर,भोपाल के दफ्तर में बीजेपी का मंथन शुरू
Share this News

भोपाल स्थित प्रदेश कार्यालय में बीजेपी के द्वारा लोकसभा 2024 के उम्मीदवारों को लेकर प्रदेश चुनाव समिति की बैठक हुई इसके साथ ही दिल्ली में कल होगी CEC की मीटिंग

मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारियों में जुटी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आज 27 फरवरी को प्रदेश की 23 लोकसभा सीटों के उम्मीदवारों का पैनल फाइनल करेगी। भोपाल में प्रदेश भाजपा कार्यालय में शाम 6 बजे से प्रदेश चुनाव समिति की बैठक होगी, जिसमें लोकसभा चुनाव प्रभारी डॉ. महेंद्र सिंह, सह प्रभारी सतीश उपाध्याय, प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा सहित चुनाव समिति के सदस्य मौजूद रहेंगे।

यह बैठक इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें चुनाव समिति प्रदेश की सभी 23 लोकसभा सीटों के लिए संभावित उम्मीदवारों की सूची पर विचार करेगी और अंतिम निर्णय लेगी। सूत्रों के अनुसार, बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता, विधायक, सांसद और अन्य कार्यकर्ता भी शामिल हो सकते हैं।

केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर रायशुमारी

एमपी बीजेपी को केंद्रीय नेतृत्व की ओर से प्रदेश की 23 लोकसभा सीटों पर कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से रायशुमारी कर संभावित दावेदारों के नाम खोजने के निर्देश मिले थे। इसके बाद रविवार देर रात वर्चुअल मीटिंग हुई और मप्र के एक मंत्री के साथ बीजेपी के एक प्रदेश पदाधिकारी को एक-एक लोकसभा क्षेत्र में जाकर रायशुमारी करने को कहा गया।

सतपुड़ा भवन से संचालित होने वाले इस विभाग को मुख्यमंत्री ने किया शिफ्ट

इन मुद्दों पर होगा विचार

चुनाव समिति बैठक में उम्मीदवारों का चयन करते समय कई मुद्दों पर विचार करेगी, जिसमें जीतने की संभावना, क्षेत्र में लोकप्रियता, सामाजिक समीकरण, पार्टी के प्रति निष्ठा और अनुभव शामिल हैं।

प्रमुख सीटों पर होगी नजर

कुछ प्रमुख सीटों पर भाजपा के लिए उम्मीदवारों का चयन करना मुश्किल हो सकता है, जैसे कि ग्वालियर, भोपाल, गुना, इंदौर, जबलपुर और खजुराहो। इन सीटों पर भाजपा के कई दावेदार हैं और सभी को संतुष्ट करना आसान नहीं होगा।

सूत्रों के अनुसार, एमपी बीजेपी को केंद्रीय नेतृत्व की ओर से प्रदेश की 23 लोकसभा सीटों पर कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से रायशुमारी कर संभावित दावेदारों के नाम खोजने के निर्देश मिले थे। इसके बाद रविवार देर रात वर्चुअल मीटिंग हुई और मप्र के एक मंत्री के साथ बीजेपी के एक प्रदेश पदाधिकारी को एक-एक लोकसभा क्षेत्र में जाकर रायशुमारी करने को कहा गया।

सूत्रों का कहना है कि रायशुमारी के आधार पर तैयार की गई रिपोर्ट को प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में रखा जाएगा। बैठक में रिपोर्ट पर चर्चा के बाद उम्मीदवारों का पैनल फाइनल किया जाएगा।

कांग्रेस, चलाएगी ‘हिसाब दो’ अभियान,चुनाव में यह होंगे मुद्दे

बैठक में मौजूद सदस्यों को उम्मीदवारों के चयन के लिए कई बातों पर ध्यान देना होगा। इनमें जीतने की संभावना, अनुभव, लोकप्रियता, सामाजिक समीकरण और पार्टी के प्रति निष्ठा शामिल हैं।

यह बैठक इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी की तैयारियों की दिशा तय करेगी। उम्मीदवारों का पैनल फाइनल होने के बाद पार्टी चुनाव प्रचार अभियान शुरू करेगी।

उम्मीदवारों के चयन को लेकर कई तरह की अटकलें हैं। कुछ सीटों पर मौजूदा सांसदों को फिर से टिकट मिलने की संभावना है, जबकि कुछ सीटों पर नए चेहरों को मौका दिया जा सकता है।

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें