भोपाल के गैस पीड़ित पेंशनधारियों को बड़ी राहत
भोपाल के गैस पीड़ित पेंशनधारियों को बड़ी राहत

मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल गैस कांड के पीड़ित पेंशन धारियों को बड़ी राहत दी है उन्हें एकमुश्त 5 महीने की पेंशन मिलेगी हालांकि 3 दिन की सरकारी छुट्टी पर जाने के कारण पेंशन धारियों के खातों में रक्षाबंधन

Advertisement
के बाद रुपए जमा होंगे इस मामले को लेकर गैस पीड़ित निराश्रित पेंशन भोगी संघर्ष मोर्चा एक लंबे आंदोलन कर रहा था आपको बता दें यह पेंशन धारी अपनी पेंशन ना मिलने के कारण कफन पहन कर भी प्रदर्शन कर चुके हैं और इनका अगला कदम मंत्री के बंगले का घेराव करना था लेकिन उससे पहले मध्य प्रदेश सरकार ने लगभग 4474 लोगों को पेंशन जारी कर दी है

भोपाल में डायल 100 की दिखी दरियादिली 2 वर्षीय मासूम को परिजनों से मिलाया

भोपाल गैस कांड के पीड़ित पेंशन धारियों को 30 महीने नहीं मिली पेंशन

आपको बता दें भोपाल में 4474 गैस पीड़ित पेंशन की पात्रता के दायरे में आते हैं। उन्हें करीब 30 महीने से पेंशन नहीं मिली है। सरकार ने प्रतिमाह 1000 रुपए की पेंशन तय कर रखी है, लेकिन पेंशन नहीं मिलने से उनके सामने जीवन-यापन की समस्या खड़ी हो गई है। इसके चलते वे लगातार नेता-अफसरों से गुहार भी लगा रहे थे।

भोपाल के व्यापम चौराहे पर टकराई दो IPS अधिकारियों की गाड़ी,दोनों अफसर सुरक्षित

जल्दी देना थी पेंशन, त्योहार के बाद ही मिलेगी
संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष बालकृष्ण नामदेव ने बताया कि 30 महीने से पेंशनधारियों को पेंशन नहीं मिली है। इस कारण वे परेशान हैं। सरकार ने अप्रैल से अगस्त-21 तक 5 महीने की पेंशन जारी की है। कुल 5 करोड़ 40 लाख रुपए का आवंटन किया गया है। पेंशन के आदेश 18 अगस्त को निकाले गए थे।

19 अगस्त को पेंशन नहीं मिल सकी। 20, 21 और 22 अगस्त की मोहर्रम, शनिवार और रविवार होने के कारण छुट्‌टी है। रविवार के दिन ही रक्षाबंधन पर्व भी है। इस वजह से पेंशनधारियों को राखी के बाद ही पेंशन मिल सकेगी। सरकार यदि जल्दी आदेश जारी कर देती तो गैस पीड़ित पेंशनधारी अच्छे तरीके से त्योहार मना लेते।

भोपाल के व्यापम चौराहे पर टकराई दो IPS अधिकारियों की गाड़ी,दोनों अफसर सुरक्षित

पेंशन के लिए कफन तक पहन चुकी बुजुर्ग महिलाएं
पेंशन नहीं मिलने के कारण बुजुर्गों का गुजर-बसर करना मुश्किल हो गया है। उन्हें राशन भी नहीं मिल रहा है। इसके चलते वे अनोखे तरीकों से प्रदर्शन कर जिम्मेदारों को जगा रहे थे। हाल ही में कई बुजुर्ग महिलाओं ने कफन पहनकर प्रदर्शन किया था। कलेक्टोरेट में भी प्रदर्शन कर चुकी हैं। इसके बाद उन्हें पेंशन राशि जारी हुई।

 

 

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply